पोर्ट ऑफ स्पेन: भारत की जीत में चमके रहाणे, कुलदीप

पोर्ट ऑफ स्पेन: भारत ने क्वींस पार्क ओवल मैदान में खेले गए दूसरे एकदिवसीय मैच में ऊपरी क्रम की शानदार बल्लबेजी के बाद गेंदबाजों के दमदार प्रदर्शन के चलते मेजबान वेस्टइंडीज को 105 रनों के विशाल अंतर से हरा दिया। भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए निर्धारित 43 ओवरों में विंडीज के सामने 311 रनों का विशाल लक्ष्य रखा था। मेजबान टीम 43 ओवर में छह विकेट खोकर 205 रन ही बनाए यह वेस्टइंडीज के खिलाफ भारत की उसी के देश में रनों की लिहाज से सबसे बड़ी जीत है।

इससे पहले रविवार रात खेले गए इस मैच में बारिश के कारण देरी हुई और इसी वजह से मैच 50 ओवरों की जगह 43 ओवरों का कर दिया गया। इस जीत के साथ ही भारत ने पांच एकिदवसीय मैचों की सीरीज में 1.0 से बढ़त ले ली है। पहला मैच बारिश के कारण रद्द हो गया था।

रहाणे ने 104 गेंदों में 10 चौके और दो छक्कों की मदद से 103 रनों की पारी खेली। यह उनके एकदिवसीय करियर का तीसरा शतका था। उनके अलावा कप्तान विराट कोहली (87) और सलामी बल्लेबाज शिखर धवन (63) के आर्धशतकों की मदद से भारत ने 43 ओवरों में पांच विकेट खोकर 310 रनों का विशाल स्कोर खड़ा किया था।

अपना दूसरा मैच खेल रहे कुलदीप ने विंडीज के तीन विकेट झटक कर भुवनेश्वर कुमार द्वारा दिए गए शुरुआती सदमे से विंडीज को उबरने नहीं दिया। विंडीज की तरफ से सबसे ज्यादा 81 रन शाई होप ने बनाए। कुलदीप ने तीन और भुवनेश्वर ने दो विकेट लिए। रविचंद्रन अश्विन को एक विकेट मिला।

लक्ष्य का पीछा करने उतरी मेजबान टीम ने चार रनों पर ही केरन पावेल और जैश मोहम्मद के विकेट खो दिए थे। भवुनेश्वर ने दोनों को खाता भी नहीं खोलने दिया था। यहां से होप ने इविन लुइस के साथ मिलकर तीसरे विकेट के लिए 89 रनों की साझेदारी की।

कुलदीप ने लुइस को महेंद्र सिंह धौनी के हाथों स्टम्पिंग करा इस साझेदारी को तोड़ा। 112 के कुल स्कोर पर कुलदीप ने होप को पगबाधा आउट कर उनकी पारी का अंत किया। होप ने 88 गेंदों में पांच चौके और तीन छक्के लगाए।

भारतीय गेंदबाज वेस्टइंडीज के बल्लेबाजों को खुलकर नहीं खेलने दे रहे थे। 131 के कुल स्कोर पर अश्विन ने जोनाथन कार्टर (13) का विकेट ले मेजबान टीम को पांचवां झटका दिया।

कप्तान जेसन होल्डर (29) और रोस्टन चेस (नाबाद 33) ने टीम को जीत के करीब ले जाने की कोशिश की और छठे विकेट के लिए 42 रन जोड़े। लेकिन यह जोड़ी रनों की गति को उस रफ्तार से नहीं बढ़ा पाई जिसकी जरूरत टीम को थी। तेजी से रन बनाने के प्रयास में ही होल्डर कुलदीप की गेंद पर स्टम्पिंग हो गए। वह 37वें ओवर की चौथी गेंद पर 174 के कुल स्कोर पर आउट हुए।

चेस के साथ एशले नर्स 19 रनों पर नाबाद लौटे।

इससे पहले टॉस हारने के बाद पहले बल्लेबाजी करते हुए भारत ने अपने ऊपरी क्रम के दम पर विशाल स्कोर खड़ा किया। भारत को सलामी जोड़ी धवन और रहाणे ने टीम को शानदार शुरुआत दी। इन दोनों की बल्लेबाजी और तालमेल को देखकर ऐसा लग रहा था कि यह दोनों पिछले मैच की लय में ही हैं।

इस मैच में दोनों ने शतकीय साझेदारी को अंजाम दिया और पहले विकेट के लिए 18.2 ओवरों में 114 रन जोड़े। धवन ऑफ स्पिनर नर्स की गेंद पर विकेटकीप होप द्वारा स्टम्पिंग कर दिए गए। उन्होंने 59 गेंदे खेली और 10 चौके लगाए।

धवन के जाने के बाद रहाणे को कप्तान कोहली का साथ मिला। रहाणे विकेट पर जम चुके थे और खूबसूरत शॉट्स खेलते गए। 34वें ओवर की चौथी गेंद पर उन्होंने ऐसा ही खूबसूरत शॉट खेल अपना शतक पूरा किया। लेकिन इसी ओवर की आखिरी गेंद पर वह मिग्युएल कमिंस की गेंद पर बोल्ड हो गए। उन्होंने कोहली के साथ 97 रनों की साझेदारी की।

बड़े शॉट खेलने के लिए मशहूर हार्दिक पांड्या को ऊपर भेजा गया। वह बिना खाता खोले पवेलियन लौटने वाले थे कि अल्जारी जोसेफ की यह गेंद नो बाल निकली। गेंद उनके बल्ले का बाहरी किनारा लेते हुए होप के हाथों में गई और पांड्या खुद ब खुद चल दिए लेकिन अंपायर ने यह देखना चाहा कि गेंद सीधे विकेटकीपर के हाथों में गई है या नहीं, इसी जांच में यह नो बाल निकली। हालांकि वह इस जीवनदान का फायदा नहीं उठा सके और चार रन बनाकर आउट हो गए।

युवराज ने 14 रनों का योगदान दिया। कोहली ने 66 गेदों में चार चौके और चार छक्कों की मदद से तेज तर्रार पारी खेली। महेंद्र सिंह धौनी 13 रन और केदार जाधव भी 13 रन बनाकर नाबाद रहे।