पौष पुत्रदा एकादशी आज ,करिये यह उपाय …

आज पुत्रदा एकादशी हे .जो महिलाए जिन्हे संतान सुख की इच्छा हे उनके लिए आज का दिन बहुत खास हे |आज अगर आपने विधि विधान से पूजा कर ली |तो उनकी सारी मनोकामनाय पूर्ण हो जाएंगी एवं उन्हें निश्चित तौर पे संतान की प्राप्ति होगी |तो आइए बताते हे आपको पूरी विधि :पौष महीने की शुक्ल पक्ष की एकादशी को पुत्रदा एकादशी कहते है। इस बार यह एकादशी 29 दिसंबर को पड़ रही है। पुत्रदा एकादशी साल में दो बार आती है।पहली पौष माह में जबकि दूसरी सावन में। इस एकादशी में भगवान विष्णु के बाल रूप की पूजा की जाती है। ऐसी मान्यता है क‌ि इस एकादशी के पुण्य से संतान सुख की प्राप्त‌ि होती है। जिस किसी भी दंपत्ति को संतान प्राप्ति करने में दिक्कत आती है उसको यह व्रत जरूर करना चाहिए।व्रत रखने वाले को दशमी के दिन लहसुन, प्याज से रहित शुद्घ भोजन करना चाहिए। एकादशी के दिन प्रातः स्नानादि से निवृत होकर श्री नारायण की भक्ति पूर्वक पूजा करनी चाहिए और दीपदान करना चाहिए। व्रत रखने वाले को दशमी के दिन से ही मन और वचन से ब्रह्मचर्य का पालन करते हुए भगवान का ध्यान करते हुए अपना काम करना चाहिए।
पूजा विधि

आज के दिन सुबह के समय नहा-धोकर, साफ कपड़े पहनकर पास के किसी शिव मंदिर में जायें और वहां जाते समय अपने साथ दूध, दही, शहद, शक्कर, घी और भगवान को चढ़ाने के लिये साफ और नया कपड़ा ले जायें अब मन्दिर जाकर शिवलिंग को पंचामृत से स्नान करायेंसबसे पहले शिवलिंग पर दूध चढ़ाएं, उसके बाद शुद्ध जल चढ़ाएं फिर दही चढ़ाएं, उसके बाद फिर से शुद्ध जल चढ़ाएं। इसी तरह बाकी चीज़ों से भी स्नान कराएं। भगवान को स्नान कराने के बाद उन्हें साफ और नये कपड़े अर्पित करें। अब मन्त्र जप करना है