प्रणब को संघ द्वारा PM पद का उम्मीदवार बनाने के शिवसेना के दावे को शर्मिष्ठा ने नकारा

नई दिल्ली। पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के संघ के कार्यक्रम में शिरकत करने को लेकर राजनीतिक बयानबाजी अब भी नहीं थमी है। ताजा बयान में शिवसेना ने दावा किया है कि संघ प्रणब मुखर्जी को 2019 में पीएम पद का उम्मीदवार बना सकता है। हालांकि, संघ के इस दावे को प्रणब की बेटी शर्मिष्ठा ने नकार दिया है।

खबरों के अनुसार शिवसेना के प्रवक्ता संजय राउत ने कहा है कि 2019 के चुनाव में बहुमत न मिलने की सूरत में संघ प्रणब को प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार बना सकता है। उनका कहना था कि पीएम नरेंद्र मोदी को दूसरी पार्टियां समर्थन नहीं करती हैं तो यह कदम उठाया जा सकता है।

राउत का कहना है कि सात जून को संघ के मुख्यालय में पूर्व राष्ट्रपति को न्योता देने का एजेंडा 2019 आम चुनाव के बाद ही पता चल सकेगा। उनका कहना था कि प्रणब से अपेक्षा थी कि वह मौजूदा ज्वलंत मुद्दों पर अपनी राय रखेंगे। इनमें न्यायपालिका के साथ बढ़ती महंगाई व बेरोजगारी शामिल थी, लेकिन वह चुप ही रहे। राउत का कहना था कि 2019 चुनाव में भाजपा को 110 सीटें कम मिलेंगी?

मेरे पिता राजनीति में नहीं आएंगेः शर्मिष्ठा

पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की बेटी शर्मिष्ठा ने कहा है कि उनके पिता अब सक्रिय राजनीति में नहीं आएंगे। शिव सेना के प्रवक्ता संजय राउत के वक्तव्य केजवाब में प्रणब की पुत्री ने जवाब दिया है। शर्मिष्ठा कांग्रेस की नेता हैं। उन्होंने पिता के संघ के कार्यक्रम में जाने का विरोध किया था।