प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए उपयोगी भारतीय इतिहास से जुडी ये बातें

आपने देखा ही होगा की प्रतियोगी परीक्षाओं में भारतीय इतिहास से जुड़े बहुत से ऐसे प्रश्न परीक्षाओं में पूंछें जाते हैं जो आपकी सफलता के लिए सहायक होते हैं .कई बार यह होता हैं की बहुत से उम्मीदवार मैथमेटिक्स सब्जेक्ट में कमजोर होते जो GK और GA द्वारा स्कोर कर लेते हैं .
आइये अब हम आपको भारतीय इतिहास से जुडी कुछ महत्वपूर्ण बातें –

नागानन्द नाम का नाटक किसने लिखा था – हर्षवर्धन
कौन सा चीनी शासक हर्षवर्धन का समकालीन था – ताईजोंग (Taizong)
किस राजा ने हर्षवर्धन को नर्मदा नदी के किनारे हराया था – चालुक्य राजा पुलकेशिन द्वितीय (II)
कादंबरी उपन्यास किस लेखक ने लिखा था – बाणभट्ट

हर्षवर्धन के शासनकाल में कौन सा चीनी यात्री भारत आया था – हीउएन-त्सांग (Hiuen-Tsang)
हर्षवर्धन को और किस नाम से पुकारा जाता था – शिलादित्य
हर्षवर्धन के बहनोई ग्रहवर्मन को किस व्यक्ति ने मार था – गौड़ राजा शशांक
किस चोल राजा ने सबसे पहले श्रीलंका के ऊपर शासन किया था – एलारा
किस व्यक्ति को तमिल साहित्य का पिता कहा जाता है – अगस्त्य
मशहूर चोल शहर उरैयुर किस हेतु जाना जाता था – मोती

चेर वंश का शाही चिन्ह क्या था – धनुष एवं बाण (Bow & Arrow)
शुद्धता की देवी कन्नगी का मंदिर बनवाने वाले महान चेर राजा का नाम क्या था – सेनगुट्टुवन
पाण्ड्य वंश का शाही चिन्ह क्या था – जुड़वा मछली (Twin Fish)
तीसरे तमिल संगम का चेयरमैन कौन था – नक्कीरर (Nakkirar)
चोला वंश का शाही चिन्ह क्या था – कूदता हुआ शेर (Jumping Tiger)
संगम काल का संगम शब्द किस शब्द के साथ करीबी से जुड़ा हुआ था – सभा (Assembly)

पल्लव वंश का शाही चिन्ह क्या था – नंदी एवं सिंह (Nandi & Simha)
पल्लव राजा महेंद्रवर्मन् प्रथम (I) को किस राजा ने हराया था – चालुक्य राजा पुलकेशिन द्वितीय (II)
प्रसिद्ध कोणार्क सूर्य मंदिर किस राजा के द्वारा बनवाया गया था – पूर्वी गंगा शासक नर्शिम्हादेव प्रथम (I)
कदम्ब वंश की स्थापना किस राजा द्वारा की गयी थी – मयूरशरम
मशहूर कार्टून मत्तविलास प्रहसन किस पल्लव राजा द्वारा लिखा गया था – महेंद्रवर्मन् प्रथम (I)
किस कवि ने किरातार्जुनीय कृति की रचना की थी – भैरवी
गंगा राजवंश की स्थापना की राजा ने की थी – कोंकणिवर्मन
किस चालुक्य राजा ने अश्वमेध यज्ञ किया था – पुलकेशिन प्रथम (I)
मशहूर किताब बृहत् कथा किसके द्वारा लिखी गयी थी – गुणाढ्य (Gunadhya)

Leave a Reply