फोन पर बात करते डॉक्टर ने काटे प्रसूता के टांके, हो गया ऐसा हादसा

एमवाय अस्पताल के गायनिक विभाग में रविवार को परिजन और स्टाफ के बीच जमकर विवाद हुआ। परिजन का आरोप है कि डॉक्टर फोन पर बात करते-करते प्रसूता के टांके काट रही थी। इस दौरान कैंची लग गई, जिससे टांके खुल गए। परिजन ने अस्पताल प्रशासन से शिकायत की है।

गायनिक विभाग के वार्ड नंबर 5 में भर्ती पिंकी राठौर निवासी शाजापुर के परिजन का आरोप है कि जूनियर डॉक्टर की गलती से टांके खुल गए। सात दिन पहले महिला की सिजेरियन डिलिवरी हुई थी। टांके पूरी तरह सूख गए थे। टांके काटकर छुट्टी करने वाले थे, लेकिन कैंची गलत लग जाने से टांके खुल गए।

महिला के परिजन ने वार्ड में हंगामा किया। प्रसूता की ननद ने बताया डॉक्टर और नर्स ने उनसे बदतमीजी कर भगा दिया। अब वे यहां इलाज नहीं करवा सकते। सोमवार सुबह दूसरे अस्पताल में लेकर जाएंगे। घटना की शिकायत अधीक्षक डॉ. वीएस पाल से की गई।

नहीं की लापरवाही

डॉ. पाल ने बताया कि संबंधित विभाग से जानकारी मिली है कि टांकों में पस पड़ जाने के कारण उन्हें खुला छोड़ा गया है। दो-तीन दिन में दवाइयों से टांकों का घाव सूख जाएगा तो फिर उन्हें काट देंगे। डॉक्टरों ने लापरवाही नहीं की है।