फ्रांस से भारत के रिश्ते सदियों पुराने हैं: नरेंद्र मोदी, दोनों देशों के बीच 14 सेक्टर में हुए करार

नई दिल्ली.फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों और नरेंद्र मोदी के बीच शनिवार को राजधानी के हैदराबाद हाउस में द्विपक्षीय बातचीत हुई। इसके बाद दोनों नेताओं ने ज्वाइंट प्रेस कॉन्फ्रेंस की। नरेंद्र मोदी ने कहा- “हमारी (इंडिया-फ्रांस) स्ट्रैटजिक पार्टनरशिप भले ही 20 साल पुरानी हो, लेकिन हमारे देशों और हमारी सभ्यताओं की आध्यात्मिक साझेदारी सदियों पुरानी है। इसलिए हमे और आगे बढ़ना होगा।” इस दौरान दोनों देशों के बीच 14 सेक्टर में करार भी हुए।

मोदी के स्पीच की अहम बातें

1) हमारे रिश्ते का इतिहास बहुत पुराना है

– नरेंद्र मोदी ने कहा- “यह संयोग मात्र नहीं है कि लिबर्टी, इक्वालिटी, फ्रैटर्निटी की गूंज फ्रांस में ही नहीं, भारत के संविधान में भी दर्ज हैं। दोनों देशों के समाज इन मूल्यों की नींव पर खड़े हैं। रक्षा, सुरक्षा, अंतरिक्ष और हाई टेक्नोलॉजी में भारत और फ्रांस के द्विपक्षीय सहयोग का इतिहास बहुत लम्बा है। दोनों देशों में द्विपक्षीय संबंधों के बारे में आपसी सहमति है। सरकार किसी की भी हो, हमारे संबंधों का ग्राफ सिर्फ और सिर्फ ऊंचा ही जाता है।”

2) हमारे युवा एक दूसरे को जानें

– नरेंद्र मोदी ने कहा- “आज हमारी सेनाओं के बीच आपसी लॉजिस्टिक्स सपोर्ट के समझौते को मैं हमारे रक्षा सहयोग के इतिहास में एक स्वर्णिम कदम मानता हूं। हम मानते हैं कि हमारे द्विपक्षीय संबंधों के बेहतर भविष्य के लिए सबसे अहम आयाम है। हमारे रिलेशन लोगों से जुड़े हैं। हम चाहते हैं कि हमारे युवा एक दूसरे के देश को जानें, एक दूसरे के देश को देखें, समझें, काम करें, ताकि हमारे संबंधों के लिए हजारों राजदूत तैयार हों।”

3) दो महत्वपूर्ण समझौते किए हैं हमने

– नरेंद्र मोदी ने कहा- “आज हमने दो महत्वपूर्ण समझौते किये हैं, एक समझौता एक दूसरे की शिक्षा योग्यताओं को मान्यता देने का है, और दूसरा हमारी माइग्रेशन एंड मोबिलिटी पार्टनरशिप का है। ये दोनों समझौते हमारे देशवासियों के, हमारे युवाओं के बीच करीबी संबंधों का फ्रेमवर्क तैयार करेंगे।

तीन दिन के दौरे में क्या करेंगे मैक्रों?

रविवार: अंतरराष्ट्रीय सौर गठबंधन समिट में जाएंगे

– मैक्रों और मोदी अंतरराष्ट्रीय सोलर गठबंधन की पहली समिट का इनॉगरेशन करेंगे। इसकी थीम जलवायु परिवर्तन और पर्यावरण है। ये समिट राष्ट्रपति भवन में होगी। इसमें 21 देशों के राष्ट्राध्यक्ष और चार देशों के प्रधानमंत्रियों के अलावा 125 देशों के रिप्रेजेंटेटिव भी हिस्सा लेंगे।

सोमवार: मिर्जापुर में सोलर प्लांट का इनॉगरेशन करेंगे

– मैक्रों उत्तर प्रदेश में मिर्जापुर के दादर काला गांव में 75 मेगावाट के सोलर प्लांट का इनॉगरेशन करेंगे। वे बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी में बने पंडित दीनदयाल उपाध्याय हस्तकला संकुल का दौरा करेंगे। यहां हैंडीक्रॉफ्ट के सामानों का केंद्र है। मोदी ने पिछले साल इसे शुरू किया था।