बढ़ते अपराध से मुख्यमंत्री नाराज, कहा-जिले में एसपी का खौफ दिखना चाहिए

रायपुर। मुख्यमंत्री  मंगलवार को राज्य के लॉ एंड ऑर्डर को लेकर पुलिस अधीक्षक को कसा। वे शराब की अवैध बिक्री के साथ बढ़ते अपराधों को लेकर खासे नाराज थे। उन्होंने पुलिस अधीक्षकों (एसपी) से सीधे कहा कि जिले में उनका खौफ नजर आना चाहिए। एसपी की सख्ती से ही अपराध रोके जा सकते हैं। साथ ही उन्होंने फ्रेंडली पुलिसिंग पर भी जोर दिया।
– मुख्यमंत्री ने कहा कि वरिष्ठता में फर्क के बावजूद कलेक्टर और एसपी के बीच अहम के टकराव की घटनाएं अब कम सुनाई दे रही हैं।इसी का नतीजा है कि जनकल्याण की योजनाओं पर पहले से कहीं बेहतर ढंग से अमल हो रहा है। पिछले एक-दो साल में अफसरों के टकराव की खबर नहीं आयी है। यह अच्छी बात है।
– उन्होंने सलाह दी कि सार्वजनिक कार्यक्रमों में कलेक्टर और एसपी को साथ-साथ जाना चाहिए।
– इससे पहले पांचो रेंज आईजी ने अपराधों की स्थिति, इंटेलिजेंस साइबर क्राइम, करप्शन को लेकर प्रेजेंटेश दिया। इसे देखने के बाद मुख्यमंत्री ने फ्रेंडली पुलिसिंग पर जोर देते हुए कौन बनेगा करोड़पति का उदाहरण दिया। उन्होंने कहा कि सीरियल में जिस तरह अमिताभ बच्चन का व्यवहार होता है वैसा ही लोगों के साथ पुलिस का व्यवहार होना चाहिए।
– केबीसी में गांवों के लोग अमिताभ से इतने घुलमिल जाते हैं कि चार लोगों के बीच में बोलने में झिझकने वाले लोग भी हॉट सीट पर बच्चन से खुलकर बात करने लगते हैं। अपने निजी जीवन के बारे में उनसे शेयर करने लगते हैं।
– मुख्यमंत्री ने सामुदायिक पुलिसिंग के क्षेत्र मेें हो रही कोशिशों की तारीफ की और कहा कि समाज का वातावरण सुधारने के लिए महिलाओं को जोड़ना होगा। प्रदेश के कुछ इलाकों में महिला कमांडो के जरिए शराब के अवैध कारोबार पर लगाम लगायी गयी है।
– यह एक बड़ा उदाहरण है कि महिलाओं की भागीदारी से क्या क्या किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि सामुदायिक पुलिसिंग के तहत जनता को पुलिस से जोड़ने के लिए गांवों मेें खेल स्पर्धाओं का आयोजन किया जाना चाहिए। सूचना तंत्र को मजबूत बनाने पर जोर देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि गांवों में कोटवारोें के अलावा शिक्षकोें और पटवारियों के पास भी काफी सूचनाएं होती हैं। उनकी मदद ली जानी चाहिए।
चुनाव के लिए अफसरों की सूची बना रहे सीएम: बघेल
कलेक्टरों के प्रदर्शन सुधारने की मुख्यमंत्री की नसीहत पर कांग्रेस ने आरोप लगाया कि डा. रमन सिंह नौकरशाही का राजनीतिक दुरुपयोग कर रहे हैं। अब वे पार्टी के कार्यकर्ताओं की बजाय नौकरशाही के जरिए चुनाव जीतने का मंसूबा पाल रहे हैं। सरकार के इशारे पर काम कर रहे सभी नौकरशाहों को चेतावनी देते हुए पीसीसी चीप भूपेश बघेल ने कहा कि उनका कच्चा चिट्ठा कांग्रेस के पास है। सत्ता में लौटने पर कार्रवाई की जाएगी।