बर्थडे ब्वॉय महेंद्र सिंह धोनी को इस ‘मां’ से मिलती है शक्ति

नई दिल्ली : टीम इंडिया के कप्‍तान महेंद्र सिंह धोनी 07 जुलाई, 2017 को अपना 36वां जन्‍मदिन मना रहे हैं. रांची की गलियों से निकला एक लड़का देखते ही देखते क्रिकेट की दुनिया का ‘बाहुबली’ बन गया.

किस्मत के धनी महेंद्र सिंह धोनी को करिश्मे करने के लिए जाना जाता है. उनके लिए कहा जाता है कि धोनी अनहोनी को होनी करते हैं. कई बार बल्लेबाजी, विकेटकीपिंग या अपने फैसलों के जरिए धोनी ने सभी को चौंकाया है.

किस्मत के साथ-साथ धोनी को सिर पर एक मां का आशीर्वाद भी हमेशा बना रहता है. धोनी को इस मां से एक शक्ति मिलती है. ये मां हैं- दिवड़ी मंदिर की मां दुर्गा.

महेंद्र सिंह धोनी जब भी अपने होम टाउन रांची आते हैं वो कहीं जाए ना जाए पर मां दिवड़ी के मंदिर में जरूर हाजिरी लगाते हैं. ये मंदिर रांची स्थित सोलहभुजा मां दुर्गा के दिवड़ी मंदिर है. रांची से करीब 60 किलोमीटर दूर रांची-टाटा हाइवे पर बना यह दिवड़ी मंदिर की आज पहचान देश-विदेश में है. धोनी के क्रिकेट टीम में आने से पहले कुछ ही लोग इसे जानते थे.

धोनी किसी भी दौरे पर जाने से पहले भी मां दिवड़ी का आशीर्वाद जरुर लेते हैं. धोनी अपने हर महत्‍वपूर्ण मैच से पहले यहां सोलहभुजा मां दुर्गा के दिवड़ी मंदिर जरूर आते हैं. भारतीय क्रिकेट में सिलेक्‍शन से पहले से ही धोनी यहां पूजा करने आते रहे हैं.

कहा जाता है कि मंदिर में स्थित सोलहभुजा मां दुर्गा ने धोनी और उनके परिवार की हर कदम पर सहायता की है. धोनी साक्षी के साथ शादी करने के बाद भी आशीर्वाद लेने इस मंदिर में आए थे. इसके बाद से इस मंदिर की चर्चा पूरे देश में होने लगी.

रांची के दिवड़ी मंदिर में बड़े-बड़े खिलाड़ी आ चुके हैं. कुछ सालों पहले तक इस मंदिर को आसपास रहने वाले लोग ही जानते थे, लेकिन भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के बार-बार यहां पहुंचने से यह मंदिर काफी प्रसिद्ध हो गया.