बिहार को मिल रही पूरी बिजली

केंद्रीय ऊर्जा मंत्री पीयूष गोयल ने कहा है कि सरकार बिहार के साथ किसी भी तरह का भेदभाव नहीं कर रही है। सरकार बिहार को काफी बिजली दे रही है। बल्कि वह बिहार को पूरी बिजली दे रही है। बिजली कम मिलने की बात गलत तरह से कही जा रही है। बिहार को जितनी बिजली मिलना चाहिए वह हम देने को तैयार हैं। बिहार हमसे बिजली की डिमांड भी नहीं की जा रही है।

इस मामले में केंद्रीय ऊर्जा मंत्री पीयूष गोयल ने कहा है कि ग्रामीण विद्युतीकरण योजना में बिहार काफी पीछे चल रहा है मगर बिहार को पूरी बिजली दी जा रही है। उनका कहना था कि वर्ष 2017 तक प्रत्येक गांव में विद्युत प्रदाय करने का लक्ष्य रखा गया है। बीते दो वर्ष में देश ने ऊर्जा के क्षेत्र में अच्छी सफलता हासिल की है।

बिहार के संदर्भ में उन्होंने कहा कि बिहार में जितनी भी विद्युत देना चाहिए। वे देने के लिए तैयार हैं। बिहार को विद्युत के लिए मांग नहीं करना चाहिए। उनहोंने कहा कि बिहार में केवल पांच मेगावाट बिजली का ही उत्पादन हो रहा है लेकिन बिहार से सोलर पार्क स्थापना का किसी भी तरह का प्रस्ताव नहीं मिला ह। कजहार और पीरपैंती में प्रस्तावित बिजली घर के एमओयू की अवधि समापत हो जाने को लेकर कहा गया कि पीरपैंती के एमओयू की अवधि बढ़ाई जाना चाहिए।

Leave a Reply