बीआरटीएस की रेलिंग तोड़ने के पक्ष में उतरा बार एसोसिएशन:

इंदौर :  बीआरटीएस को लेकर हाई कोर्ट में दायर दो जनहित याचिकाओं में गुरुवार को अंतिम बहस होना थी, जो टल गई। शासन ने बहस के लिए समय मांग लिया। कोर्ट ने नाराजगी जताते हुए कहा कि तीन माह से बहस टल रही है। अब समय नहीं दे सकते। सोमवार को दोनों पक्षों को अनिवार्य रूप से बहस करना होगी। इधर, हाई कोर्ट बार एसोसिएशन भी याचिकाओं के समर्थन में उतर आया है।

वही एक  याचिका में बीआरटीएस को अवैध बताते हुए इसे तोड़ने की मांग की है तो दूसरी याचिका में इसकी प्लानिंग में बदलाव करने की। याचिकाकर्ता और शासन दोनों ही याचिकाओं में अपनी-अपनी तरफ से पेपर बुक कोर्ट को दे चुके हैं। और फैसले का इंतजार कर रहे है |