बीती तिमाही में इन्फोसिस का मुनाफा 10 फीसद बढ़ा

बेंगलुरु। देश की दूसरी सबसे बड़ी आइटी कंपनी इन्फोसिस को बीती तिमाही में 4,110 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ। साल भर पहले इसी अवधि में कंपनी का मुनाफा 3,726 करोड़ रुपये था। कंपनी के मुनाफे में 10.3 फीसद की वृद्धि हुई है। चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में कंपनी का राजस्व 17.3 फीसद बढ़कर 20,609 करोड़ रुपये पर पहुंच गया।

कंपनी ने इसे शानदार तिमाही करार दिया है। वित्त वर्ष 2018-19 के लिए कंपनी ने रेवेन्यू ग्रोथ आउटलुक छह से आठ फीसद रखा है। कंपनी के सीईओ और एमडी सलिल पारेख ने कहा कि बीती तिमाही में दो अरब डॉलर से ज्यादा के कारोबारी सौदों से निकट भविष्य में अच्छी ग्रोथ का अनुमान है।

कंपनी ने सभी बिजनेस सेगमेंट और बाजारों में अच्छा विकास दर्ज किया है। कई सेक्टर सालाना 10 फीसद से ज्यादा की दर से बढ़ रहे हैं। डॉलर के हिसाब से कंपनी का शुद्ध मुनाफा हल्की बढ़त के साथ 58.1 करोड़ डॉलर रहा। इसी अवधि में कंपनी का राजस्व 7.1 फीसद बढ़कर 2.92 अरब डॉलर रहा।

हीरो मोटोकॉर्प का मुनाफा गिरा-

देश की सबसे बड़ी दोपहिया वाहन निर्माता कंपनी हीरो मोटोकॉर्प को बीती तिमाही में 976.28 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ है। सालभर पहले के 1,010.49 करोड़ रुपये की तुलना में कंपनी का मुनाफा 3.38 फीसद गिरा है। समीक्षाधीन अवधि में कंपनी का परिचालन राजस्व 8,371.74 करोड़ रुपये से बढ़कर 9,090.94 करोड़ रुपये हो गया। बीती तिमाही में कंपनी का कुल खर्च 7,866.15 करोड़ रुपये रहा। एक साल पहले इसी अवधि में कंपनी का कुल खर्च 7,053.63 करोड़ रुपये रहा था।

फेडरल बैंक के मुनाफे में मामूली बढ़त-

चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में फेडरल बैंक के मुनाफे में 0.88 फीसद की मामूली बढ़त दर्ज की गई। बैंक को सालभर पहले के 263.70 करोड़ रुपये की तुलना में 266 करोड़ रुपये का लाभ हुआ। बैंक ने बताया कि केरल में आई बाढ़ से बैंक को अनुमान के मुताबिक ही परेशानी झेलनी पड़ी। समीक्षाधीन अवधि में फंसे कर्जों यानी एनपीए के मद में बैंक का प्रावधान 63.38 फीसद बढ़कर 288.82 करोड़ रुपये रहा।