बुलंदशहर में BJP नेताओं से भिड़ने वाली सीओ श्रेष्ठा पर गिरी गाज, बहराइच ट्रांसफर

बुलंदशहर: कुछ दिन पहले ही बुलंदशहर में भारतीय जनता पार्टी (BJP) नेता की गुंडागर्दी का वीडियो सामने आया था। बीजेपी नेता पर सीओ श्रेष्ठा ठाकुर के साथ बदसलूकी का आरोप लगा था। बीजेपी नेता पुलिस के सामने सत्ता का रौब दिख रहे थे जिस पर सीओ श्रेष्ठा ने उनकी एक नहीं सुनी और गाड़ी के चालान के साथ-साथ सरकारी काम में बाधा ड़ालने के आरोप में गिरफ्तार भी किया। लेकिन भाजपाइयों से भिड़ने की गाज अब सीओ श्रेष्ठा पर गिर गई और शासन ने उनका तबादला बहराइच कर दिया।

यह था पूरा मामला

बता दें कि 22 जून को वाहन चेकिंग के दौरान बीजेपी की जिला पंचायत सदस्य के पति प्रमोद लोधी ने बीजेपी नेता होने की धौंस जमाकर गाड़ी का चालान नहीं होने दिया और पुलिस के खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी। यहां तक कि पुलिस ने जिन आरोपियों को पकड़ कर रखा था उन्हें भी कोर्ट परिसर से छुड़ाने की कोशिश की।

इतना ही नहीं धीरे-धीरे वहां पर जुटे बीजेपी कार्यकर्ताओं ने पुलिस प्रशासन मुर्दाबाद के नारे भी लगाए और पुलिस से नोंकझोंक करने लगे। इसके बाद सीओ श्रेष्ठा ने सरकारी काम में बाधा डालने के आरोप में बीजेपी नेता को गिरफ्तार कर लिया।

इस घटना के बाद भाजपा विधायक से लेकर नेता सीओ को हटवाने के लिए लामबंद हो गए थे। आखिरकार सीओ श्रेष्ठा का शासन ने तबादला बहराइच कर दिया। हालांकि अधिकारी इस रूटीन प्रक्रिया बता रहे हैं। स्याना एसओ कौशलेंद्र को एसएसपी मुनिराज जी दो दिन पहले वहां से हटा चुके है।