बैंक कर्मचारी बनकर ठग ने महिला से 28 बार जाना OTP, फिर लगाया लाखों का चूना

मुंबई। फोन पर धोखाधड़ी की इतनी खबरें सामने आने के बाद भी लोग सतर्क नहीं हुए हैं और लापरवाही की वजह से बड़ा नुकसान उठा रहे हैं।

फोन पर धोखाधड़ी का ऐसा ही एक मामला मुंबई में सामने आया है। जब नवी मुंबई के नेरूल में रहने वाली चालीस साल की एक महिला से एक शातिर ठग ने फोन पर ओटीपी जानकर सात लाख का चूना लगा दिया।

महिला से फोन पर इस शातिर जालसाज ने हफ्ते में एक दो बार नहीं, बल्कि पूरे 28 बार ओटीपी हासिल किया। अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर की मानें तो इस जालसाज ने महिला को बैंक कर्मचारी बनकर फोन किया था।

रिपोर्ट की मानें तो तसनीम मुज्जाकर मोदक नाम की इस महिला के बैंक खाते में 7.20 लाख रुपए थे। उन्हें 17 मई को एक फोन कॉल आया, दूसरी तरफ से बात करने वाले शख्स ने खुद को बैंक कर्मचारी बताया और डेबिट कार्ड ब्लॉक होने की जानकारी दी। उस शख्स ने महिला को कार्ड अनब्लॉक कराने के लिए कुछ जानकारियां मांगी।

पुलिस की मानें तो महिला इस ठग के झांसे में आ गई और उसे अपनी बैंक से जुड़ी तमाम जानकारियां उसे दे दीं, जिसमें 16 अंकों के डेबिट कार्ड नंबर से लेकर तीन अंकों का सीवीवी नंबर तक शामिल है। जबकि ये नंबर किसी को नहीं बताए जाते हैं, फिर चाहें बैंक से ही क्यों न फोन आया हो।

एक हफ्ते के भीतर इस महिला ने 28 बार ओटीपी बताए और इसका फायदा उठाते हुए इस जालसाज ने उसे 6,98,973 रुपए का चूना लगा दिया। ठगी का शिकार हुई महिला ने 29 मई को नेरूल पुलिस थाने में एफआईआर दर्ज कराई। महिला ने पुलिस को बताया कि उसे ऑनलाइन बैंकिंग के बारे में कुछ नहीं पता है।

शुरुआती जांच में पुलिस को पता चला है कि डेबिट कार्ड के जरिए मुंबई, नोएडा, गुरुग्राम, कोलकाता और बैंगलुरू में खरीदी की गई है।