ब्रांड न्यू वीवी पैट से होंगे 200 सीटों पर विधानसभा चुनाव, 23 जिलों में पहुंची नई मशीनें

जयपुर.राज्य विधानसभा की सभी 200 सीटों पर इस बार ब्रांड न्यू वीवी पैट मशीनों से चुनाव कराए जाएंगे। राज्य के 23 जिलों में नई ईवीएम-वीवी पैट पहुंच गई है। शेष 10 जिलों में अगले सात दिन यानी 17 मई तक पहुंचा दी जाएंगी। यही नहीं, पिछले विधानसभा चुनाव की तुलना में 4 साल में 70 लाख से ज्यादा नए वोटर जुड़ चुके हैं। चुनाव से पहले तक नाम जुड़वाने का सिलसिला जारी रहेगा। हालांकि, राजस्थान विधानसभा चुनाव के लिए फाइनल मतदाता सूची 31 जुलाई को प्रकाशित कर दी जाएगी। इसके बाद जो भी नाम जोड़े जाएंगे उनकी पूरक सूचियां निकाली जाएंगी।

– मुख्य निर्वाचन अधिकारी अश्विनी भगत ने बताया कि 200 विधानसभा क्षेत्रों में 51 हजार 227 पोलिंग स्टेशन हैं। इस लिहाज से प्रदेश को 76 हजार 840 बैलेट यूनिट, 64 हजार 34 कंट्रोल यूनिट एवं 66 हजार 466 वीवी पैट का आवंटन होगा।

– अब 23 जिलों में आवश्कतानुसार आवंटन किया भी जा चुका है। यह सभी एम-3 नई मशीनें हैं। – इन मशीनों का इस्तेमाल पहली बार ही होगा। प्रथम लेवल जांच के बाद सार्वजनिक तौर पर मशीनों को प्रदर्शित किया जाएगा। ताकि, लोगों की सभी शंका-आशंकाओं को दूर किया जा सके।

4 साल में बढ़े 70 लाख से ज्यादा मतदाता

– सीईओ भगत के अनुसार प्रदेश में वर्तमान में 4 करोड़ 76 लाख मतदाता रजिस्टर्ड है। मतदाताओं की यह संख्या वर्ष 2013 के विधानसभा चुनाव की तुलना में 70 लाख ज्यादा है।

– इसी महीने के आखिरी सप्ताह से मतदाता सूचियों के संक्षिप्त पुनरीक्षण की प्रक्रिया शुरू होगी। इसमें नाम जोड़े जा सकेंगे।

– अगले विधानसभा चुनाव के लिए 31 जुलाई को फाइनल मतदाता सूचियों को प्रकाशन कर दिया जाएगा। हालांकि, इसके बाद नाम जोड़ने की प्रकिया चलती रहेगी।

बीईएल ने बनाई वीवीपैट, 4 साल पहले हुआ था इस्तेमाल
देश में भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड और इलेक्ट्रॉनिक कॉरपोरेशन आफ इंडिया लिमिटेड ने वीवीपैट मशीन 2013 में डिजाइन की। सबसे पहले इसका इस्तेमाल नगालैंड के चुनाव में 2013 में हुआ था। इसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने वीवीपैट मशीन बनाने और इसके लिए पैसे मुहैया कराने के आदेश केंद्र सरकार को दिए।

7 सेकंड तक दिखेगी वीवीपैट की पर्ची

ईवीएम में कोई भी बटन दबाने के बाद उससे जुड़ी वीवीपैट पर्ची निकलेगी। यह सात सैकंड तक वोट देने वाले को दिखेगी। वह देख सकेगा कि जो बटन उसने दबाया है वोट उसी को मिला है या नहीं। जिसे वोट दिया है वीवीपैट पर उसका नाम और चुनाव चिन्ह छप कर निकलेगा।