भारत के 16 वेट लिफ्टर्स ने अगले साल ऑस्ट्रेलिया में होने वाले राष्ट्रमंडल खेलों के लिए क्वालीफाई किया है

भारत के 16 वेट लिफ्टर्स ने अगले साल ऑस्ट्रेलिया में होने वाले राष्ट्रमंडल खेलों के लिए क्वालीफाई किया है. अंतरराष्ट्रीय भारोत्तोलन महासंघ के राष्ट्रमंडल रैंकिंग जारी करने के बाद इसकी पुष्टि हुई. एस सतीश कुमार और संजीता चानू अप्रैल 2018 में गोल्ड कोस्ट में होने वाले राष्ट्रमंडल खेलों के दौरान पिछले टूर्नामेंट के अपने प्रदर्शन को दोहराने की कोशिश करेंगे जिसमें उन्होंने स्वर्ण पदक जीत ग्लास्गो में 2014 में हुए पिछले राष्ट्रमंडल खेलों में भारतीयों ने 12 पदक जीते थे जिसमें तीन स्वर्ण पदक भी शामिल थे. संजीता और सतीश के अलावा सुखेन डे (पुरुष 56 किग्रा) ने भी पिछले राष्ट्रमंडल खेलों में सोने का तमगा जीता था लेकिन इस बार वह क्वालीफाई करने में नाकाम रहे. इस बार 56 किग्रा वर्ग में भारत का प्रतिनिधित्व गुरुराजा करेंगे. महिला 48 किग्रा वर्ग में स्वर्ण पदक जीतने वाली संजीता इस बार एक वजन वर्ग ऊपर 53 किग्रा वर्ग में हिस्सा लेंगी जबकि सतीश पुरुष 77 किग्रा वर्ग में अपना खिताब बचाने उतरेंगे. पुरुष वर्ग में सतीश के अलावा विकास ठाकुर ही पिछले राष्ट्रमंडल खेलों में हिस्सा लेने वाले एकमात्र भारतीय भारोत्तोलक हैं जो अगले टूर्नामेंट में भी हिस्सा लेंगे. ठाकुर ने पिछली बार 85 किग्रा वर्ग में रजत पदक जीता था लेकिन इस बार वह 94 किग्रा वर्ग में हिस्सा लेंगे.जहां तक महिलाओं का सवाल है संजीता, सेखोम मीराबाई चानू, पूनम यादव और वंदना गुप्ता ने पिछली बार टूर्नामेंट में हिस्सा लिया था और ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टूर्नामेंट के लिए भी क्वालीफाई किया है. मीराबाई चानू ने 48 किग्रा वर्ग में रजत पदक जीता था जबकि पूनम को 69 किग्रा में कांस्य पदक मिला था. वंदना चौथे स्थान पर रही थी.टीम इस प्रकार है: पुरुष: गुरुराजा (56 किग्रा), मुथुपांदी राजा (62 किग्रा), दीपक लाठेर (69 किग्रा), एस सतीश कुमार (77 किग्रा), रेगाला वेंकट राहुल (85 किग्रा), विकास ठाकुर (94 किग्रा), प्रदीप सिंह (105 किग्रा) और गुरदीप सिंह (105 किग्रा से अधिक).महिला: सेखोम मीराबाई चानू (48 किग्रा), संजीता चानू (53 किग्रा), सरस्वती राउत (58 किग्रा), वंदना गुप्ता (63 किग्रा), पूनम यादव (69 किग्रा), सीमा (75 किग्रा), लालचानहिमी (90 किग्रा) और पूर्णिमा पांडे (90 किग्रा से अधिक).