भूलने की बीमारी से हैं परेशान तो तुलसी के बीज से पा सकते हैं राहत

अगर आप भी चीजें रखकर बार-बार भूल जाते हैं। जिसकी वजह से कई बार जरूरी काम भी होते-होते से रुक जाते हैं तो अपने घर के आंगन में तुलसी का पौधा लगा लीजिए। कहा जाता है कि जिस घर में तुलसी का पौधा होता है वहां के लोग निरोग रहते हैं। आयुर्वेद में तुलसी को संजीवनी बूटी तक कहा जाता है।
​तुलसी का इस्तेमाल करने से कई रोग अपने आप खत्म हो जाते हैं। आगे की स्लाइड्स में क्लिक करके जानें यौन रोगों से लेकर स्मरण शक्ति बढ़ाने वाली तुलसी के कई फायदों के बारे में।
स्मरण शक्ति
तुलसी के रस में शहद मिलाकर पीने से स्मरण शक्ति अच्छी होती है। इसके लिए तुलसी के पत्तों का 2 से 3 चम्मच रस सुबह खाली पेट पीने से इसका ज्यादा लाभ मिलता है।
यौन रोगों का इलाज
पुरुषों में शारीरिक कमजोरी होने पर तुलसी के बीज का इस्तेमाल किया जाता हैं। इसके बीज का रोजना इस्तेमाल करने से काफी यौन संबंधी रोगों को दूर करने में फायदा मिलता है।

दस्त में राहत
अगर आप दस्त से परेशान हैं तो तुलसी के पत्तों का इलाज आपको फायदा पहुंचा सकता है। इसके लिए तुलसी के पत्तों को जीरे के साथ मिलाकर पीस लें। इसके बाद उसे दिन में 3-4 बार चाटते रहें। ऐसा करने से दस्त रुक जाते हैं।