भोपाल में 35 हजार, इंदौर में 31 हजार फर्जी वोटर, वोटर लिस्ट में गड़बड़ी की जांच में खुलासा

भोपाल.चुनाव आयोग की पहल पर वोटर लिस्ट में हुई गड़बड़ी को दूर किए जाने की कड़ी में रविवार को प्रदेश के 51 जिलों के कलेक्टरों ने मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी (सीईओ) को मृतकों, पता बदलने वाले और पते पर नहीं पाए गए लोगों की जानकारी भेज दी है। यह संख्या करीब 7 लाख है। इसमें चौंकाने वाली जानकारी यह है कि सबसे ज्यादा वोटर लिस्ट में गड़बड़ी सागर जिले में पाई गई है, जहां वोटर लिस्ट में 60424 नाम ऐसे मिले हैं, जिनका अता-पता नहीं है, जिनमें 25 हजार 114 नाम तो मृतकों के हैं।

भोपाल जिले की वोटर लिस्ट में 35,248 नामों में गड़बड़ी मिली है, इनमें भी 7076 नाम मृतकों के हैं। कलेक्टरों ने सीईओ मध्यप्रदेश को यह जानकारी तीन दिन पहले की स्थिति में भेजी है। यह संख्या आगे बढ़ने के भी आसार हैं। मध्यप्रदेश देश का पहला ऐसा राज्य है, जहां वोटर लिस्ट का समरी रिवीजन कर गड़बड़ियों को ठीक किया गया है। इससे इस साल होने वाले विधानसभा चुनाव में जिस वोटर लिस्ट का उपयोग हो उसमें कोई भी बोगस वोटर न हो। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी सलीना सिंह का दावा है कि वोटर लिस्ट के समरी रिवीजन में जो भी मृतक, जो पते पर नहीं मिले हैं और जो जगह छोड़कर चले गए हैं, उनके नाम हटा दिए गए हैं।

आज इंदौर आएंगे मुख्य चुनाव आयुक्त रावत
भारत निर्वाचन आयोग के मुख्य चुनाव आयुक्त ओपी रावत सोमवार को इंदौर आ रहे हैं। रावत वहां सुबह 11 बजे मान्यता प्राप्त राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों से वोटर लिस्ट के संबंध में चर्चा करेंगे। बैठक में मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी सलीना सिंह, जिला निर्वाचन अधिकारी तथा चुनाव से जुड़े अन्य अधिकारी भी उपस्थित रहेंगे।

वोटर लिस्ट में गड़बड़ी वाले टाप-10 जिले

जिला गड़बड़ी मृतक
सागर 60,424 25,114
ग्वालियर 41,851 6,405
भोपाल 35,248 7,076
इंदौर 31,043 6,599
भिंड 23,756 7,664
कटनी 28,556 14,263
जबलपुर 19,790 9,205
उज्जैन 22,472 13,076
बुरहानपुर 14,378 7,891
सीहोर 13,451 4,821
…इधर, राजनीति गरमाई
मुख्यमंत्री बोले- आयोग पर आरोप लगाने की कुछ लोगों की आदत
सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कुछ लोगों को चुनाव आयोग की स्वायत्तता पर आरोप लगाने की आदत सी हो गई है। अपनी हार को सामने देख वे बौखला जाते हैं। वे जब जीतते हैं तो भूल जाते हैं कि जहां पर वे जीते हैं वहां भी आयोग ने ही चुनाव करवाए हैं।
कमलनाथ बोले- जो आंकड़ा सामने आ रहा, वह परिणाम बदल सकता है
पूर्व केंद्रीय मंत्री और सांसद कमलनाथ ने बताया कि मध्यप्रदेश में जिस प्रकार से फर्जी वोटर्स का बढ़ता आंकड़ा सामने आ रहा है, वो चौंकाने वाला होकर निष्पक्ष मतदान के प्रति बड़े संदेह को जन्म दे रहा है। इतनी बड़ी संख्या में फर्जी वोटर्स चुनाव परिणाम को पलट सकते हैं।