मंत्री आर्य की मुश्किल बढ़ी, ट्रायल पर रोक से हाईकोर्ट का इनकार

हाईकोर्ट की एकल पीठ ने बुधवार को विशेष सत्र न्यायालय भिंड में गोहद के विधायक माखन जाटव हत्याकांड में चल रही उस ट्रायल पर रोक लगाने से इनकार कर दिया, जिसमें प्रदेश सरकार में मंत्री लाल सिंह आर्य को धारा 319 के तहत हत्याकांड में सह आरोपी बना लिया गया था।

सीबीआई को नोटिस जारी कर हाईकोर्ट ने 23 अक्टूबर तक इस मामले में जवाब मांगा है। वहीं अब 6 अक्टूबर को उन्हें विशेष कोर्ट भिंड में उपस्थित होना होगा। इसी दिन उनके अग्रिम जमानत के आवेदन पर भी विशेष कोर्ट में सुनवाई होगी।

सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर भिंड के विशेष कोर्ट ने 24 अगस्त को गोहद विधायक माखन जाटव हत्याकाडं मामले श्री आर्य को धारा 319 के तहत सह आरोपी बनाया था। उन्हें 25 हजार का जमानती वारंट जारी कर 14 सितंबर को तलब किया था।

इस पर उन्होंने क्रिमिनल रिवीजन दायर कर विशेष सत्र न्यायालय भिंड के आदेश को हाईकोर्ट में चुनौती दी। श्री आर्य विशेष कोर्ट में उपस्थित नहीं हुए और अपने निज सहायक को भेजकर उपस्थिति पर समय ले लिया। बुधवार को इस याचिका पर हाईकोर्ट में फिर से बहस हुई।