मंदसौर जाने से पहले राहुल गिरफ्तार, बोले- किसानों को सिर्फ गोली दे सकते हैं मोदी

मध्यप्रदेश में आंदोलन के दौरान पुलिस फायरिंग में मारे गए 5 किसानों के परिजनों से मिलने के लिए कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी उदयपुर पहुंच गए हैं। यहां पहुंचने के बाद राहुल मंदसौर के लिए बाइक पर ही रवाना हो गए हैं। एमपी जाने की जानकारी राहुल ने कल ट्वीट कर दी थी कि वह आंदोलन कर रहे किसानों से मिलने जाएंगे। साथ ही वह मृत किसानों के परिवार से भी मिलेंगे।
राहुल गांधी को पुलिस ने धारा 151 के तहत नीमच में गिरफ्तार कर लिया है।
– राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा कि राजस्थान और मध्य प्रदेश सरकार उन्हें रोकने की हर कोशिश कर रही है।
– राहुल गांधी को मंदसौर जाने की इजाजत नहीं है इसके बावजूद वे वहां के लिए बाइक पर ही रवाना हो गए।
– राहुल बोले कि पीएम मोदी और शिवराज किसानों को सिर्फ गोलियां दे सकते हैं।
– उन्होंने कहा कि न तो किसानों का कर्ज माफ किया जाएगा और न ही उन्हें बोनस देते हैं।
– मंदसौर के एसपी ओपी श्रीवास्तव ने कहा कि मामले में 62 लोगों को हिरासत में लिया गया है।
– केंद्रीय मंत्री नायडू ने कहा कि कांग्रेस के शासनकाल में भी किसान आंदोलन हुए हैं। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी घटनास्थल पर फोटो खिंचवाने जाते हैं।
– मध्य प्रदेश के गृहमंत्री भूपेंद्र सिंह ने माना है कि पुलि फायरिंग में 5 किसानों की मौत हुई है।
– मध्यप्रदेश पुलिस ने राजस्थान से लगते बॉर्डर को सील कर दिया है। मंदसौर राजस्थान-मध्यप्रदेश बॉर्डर का करीबी जिला है।
– योग गुरू बाबा रामदेव बोले कांग्रेस आग में घी डालने का काम कर रही है यानि आंदोलन को बढ़ावा दे रही है।
– राहुल गांधी के रोके जाने पर कांग्रेस की ओर से नेता सचिन पायलेट बोले की बीजेपी राजनीति कर रही है।
– सचिन बोले बीजेपी किसानों से मिलने नहीं दे रही है।
– किसान आंदोलन इस कदर बेकाबू हो गया है कि टोल प्लाजा से करीब 10 लाख रुपये लूट लिए गए हैं।
– मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक आम आदमी पार्टी के बड़े नेता कल मंदसौर पहुंच सकते हैं।
-सरकार ने बुधवार देर रात पीएम मोदी की मंत्रियों के साथ हुई आपातकालिन बैठक के बाद यह फैसला लिया है।
मंदसौर के कलेक्टर स्वतंत्र सिंह का तबादला कर दिया गया है और ओम प्रकाश श्रीवास्तव को जिले का नया कलेक्टर नियुक्त किया गया है।
बात दें कि 1 जून को किसानों ने अपनी फसल की अच्छी कीमत के लिए एक दिवसीय प्रदर्शन आयोजित किया। 3 दिन बाद यानी 4 जून को सीहोर, इंदौर और भोपाल में किसानों और पुलिस के बीच झड़प हुई, जिसमें 6 पुलिसकर्मी घायल हो गए। जिसके बाद मंगलवार को मंदसौर में पुलिस फायरिंग में 6 किसानों की मौत हो गई।

मंदसौर जिले के बरखेड़ा पंत में पुलिस की फायरिंग में मारे 6 लोगों में एक स्टूडेंट भी शामिल था। जिसके बाद स्टू़डेंट का शव रोड पर रखकर किसानों ने चक्का जाम किया। किसानों मांग कर रहे थे कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान खुद आएं और फायरिंग करने वालों के खिलाफ सख्त एक्शन लेने का वादा करें। इस मामले को ठंडा करने के लिए एसपी ओपी त्रिपाठी और कलेक्टर स्वतंत्र कुमार सिंह बरखेड़ा पंत पहुंचे थे।

Leave a Reply