मध्यप्रदेश को मिला चौथी बार कृषि कर्मण अवार्ड

मध्यप्रदेश को लगातार चौथी बार प्रतिष्ठित केटेगरी में वर्ष 2014-15 का कृषि कर्मण अवार्ड मिला है। इस उपलब्धि पर मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान और किसान-कल्याण एवं कृषि विकास मंत्री श्री गौरीशंकर बिसेन ने प्रदेश के किसानों को बधाई दी है।

भारत सरकार ने आज शाम को राज्य सरकार को सूचित किया कि प्रतिष्ठित केटेगरी-1 में सर्वाधिक खाद्यान्न उत्पादन में कृषि कर्मण अवार्ड मध्यप्रदेश को दिया गया है। उल्लेखनीय है कि इसके पूर्व वर्ष 2011, 2012, 2012-13 और वर्ष 2013-14 में मध्यप्रदेश को कृषि कर्मण अवार्ड मिला है। इसमें वर्ष 2011-12 में तथा वर्ष 2014-15 में खाद्यान्न उत्पादन में यह अवार्ड भारत सरकार ने दिया है। वर्ष 2013 में नई दिल्ली में राष्ट्रपति श्री प्रणब मुखर्जी ने यह प्रतिष्ठित पुरस्कार मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान को नई दिल्ली में दिया था।

वर्ष 2011-12 में पिछले 5 साल में अधिकतम उत्पादन के लिये मध्यप्रदेश को कृषि कर्मण अवार्ड मिला था। दूसरी बार पुन: राष्ट्रपति श्री प्रणब मुखर्जी ने खाद्यान्न उत्पादन श्रेणी में कृषि कर्मण अवार्ड 10 फरवरी को मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान को प्रदान किया। राजस्थान के सूरतगढ़ में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने प्रदेश को तीसरी बार गेहूँ उत्पादन में देश में उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिये कृषि कर्मण अवार्ड देते हुए कहा था कि मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में मध्यप्रदेश बीमारू राज्य की श्रेणी से बाहर निकल गया है।

मध्यप्रदेश को चौथी बार कृषि कर्मण अवार्ड के साथ 5 करोड़ रुपये की राशि दी जायेगी।

Leave a Reply