मध्य प्रदेश में सड़कों पर किसान, राष्ट्रीय राजमार्ग पर, कई गिरफ्तार लीड

भोपाल: मध्य प्रदेश के किसान कर्ज माफी और फसल के उचित दाम मिलने की मांगों को लेकर शुक्रवार को तीन घंटे के लिए राष्ट्रीय राजमार्ग पर सैकड़ों की संख्या में किसान चक्का जाम किया. भोपाल के मिसरौद इलाके में पुलिस ने राष्ट्रीय किसान मजूदर संघ के राष्ट्रीय संयोजक शिवकुमार शर्मा उर्फ कक्काजी सहित कई किसानों को गिरफ्तार कर लिया है.
मिसरौद क्षेत्र के अनुविभागीय अधिकारी, पुलिस (एसडीओपी) अतीक अहमद ने बताया, “भोपाल से होशंगाबाद जाने वाले मार्ग पर 11वें मील पर कक्काजी और उनके साथी किसानों को गिरफ्तार कर लिया गया है.” कक्काजी ने कहा, “सरकार चाहे गिरफ्तार करे, जेल भेजे, मगर उनकी जुबान को बंद नहीं कर सकती है. किसान लगातार आत्महत्या कर रहे हैं और सरकार कोई कदम नहीं उठा रही है. राज्य के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान 6500 घोषणाएं कर चुके हैं, मगर किसी एक पर भी अमल नहीं हुआ.”
गिरफ्तारी से पहले कक्काजी ने कहा, ‘किसानों का आंदोलन शांतिपूर्ण रहेगा. दोपहर 12 बजे से तीन बजे तक राष्ट्रीय राजमार्ग जाम किया जाएगा. एंबुलेंस सहित अन्य जरूरी वाहनों की आवाजाही बाधित नहीं होगी. राजमार्ग का एक हिस्सा पूरी तरह बंद रहेगा, वहीं दूसरे हिस्से से आमजनों के वाहनों को निकलने में सहयोग किया जाएगा, इस दौरान किसी तरह की हिंसा नहीं होगी.’
क्काजी ने आगे बताया, “यह आंदोलन सिर्फ मध्य प्रदेश ही नहीं देश के 13 से ज्यादा राज्यों में हो रहा है. किसानों की कर्ज माफी और फसल की उचित कीमत दो प्रमुख मांगें हैं.’ किसानों के इस आंदोलन को कांग्रेस व सीटू ने भी समर्थन दिया है. किसानों के चक्काजाम के मद्देनजर राजमार्गों पर सुबह से ही भारी पुलिसबल की तैनाती की गई है ताकि कोई अप्रिय घटना न हो.