महाकाल शिवलिंग:अब धातु के पात्र से स्पर्श कराए बगैर जल चढ़ाना होगा

उज्जैन (इंदौर). महाकाल के शिवलिंग पर अब पंडे-पुजारी, आम और वीआईपी श्रद्धालुओं को धातु के पात्र को स्पर्श कराए बगैर जल चढ़ाना होगा। मंदिर प्रबंध समिति ने गर्भगृह में बाल्टी और घड़ा ले जाने पर भी प्रतिबंध लगा दिया है।
– सुप्रीम कोर्ट में शिवलिंग के क्षरण को लेकर सारिका गुरु द्वारा दायर याचिका के बाद मंदिर प्रबंध समिति ने मंगलवार को क्षरण रोकने के प्रयास में एक ओर निर्णय लिया।
– समिति ने गर्भगृह में शिवलिंग पर पुष्प एवं बिल्वपत्र भी शीर्ष भाग पर चढ़ाने को कहा है।
– समिति के प्रभारी प्रशासक प्रदीप सोनी ने मंगलवार देरशाम आदेश जारी किए, जो तत्काल प्रभाव से लागू भी कर दिए।