महिला हॉकी विश्‍व कप : भारत का सपना टूटा, आयरलैंड से लगातार दूसरी बार हार

लंदन। भारत का 44 सालों के बाद महिला हॉकी विश्व कप के सेमीफाइनल में पहुंचने का सपना एक बार फिर टूट गया।

गुरुवार को खेले गए क्वार्टर फाइनल में आयरलैंड ने भारत को पेनल्टी शूटऑफ में 3-1 से हराकर सेमीफाइनल में जगह बना ली। निर्धारित समय तक मैच मैच गोलरहित बराबरी पर रहा था।

आयरलैंड ने पहली बार विश्व कप के सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया। शूटऑफ में खराब प्रदर्शन भारत को भारी पड़ा और कप्तान रानी रामपाल, मोनिका और नवजोत कौर आयरलैंड की गोलकीपर आयशा मॅकफेरान से पार नहीं पा सकीं। भारत के लिए रीना ही शूटऑफ में एकमात्र गोल दाग पाईं।

भारतीय गोलकीपर सविता ने दो शूटऑफ जरूर बचाए लेकिन वह काफी नहीं थे। आयलैंड की रोइसिन अपटॉन, एलिसन मीके और चोल वाटकिंग्स गोलस्कोरर रहीं।

भारत के पास 44 सालों के बाद इतिहास दोहराने का अच्छा मौका था, लेकिन वह इसे भुनाने में सफल नहीं रहा।

पिछली बार वह 1974 में मेंडेलियू, फ्रांस में हुए विश्व कप के सेमीफाइनल में पहुंचा था, जहां वह चौथे स्थान पर रहा था।

इस टूर्नामेंट में भारत की विश्व की 16वें क्रम की आयरलैंड के खिलाफ यह दूसरी हार है। उसे समूह वर्ग में भी 0-1 से हार मिली थी।