मां ने शराब पीने के लिए रुपए नहीं दिए तो बेटे ने घर में लगा दी आग

मनेंद्रगढ़.शराब पीने के लिए एक युवक ने अपनी मां से रुपए मांगे और जब उसे रुपए नहीं मिले तो उसने अपने ही घर को फूंक डाला। नपा के दमकल कर्मचारी और पुलिस की मदद से जब तक आग पर काबू पाया जाता घर का सारा सामान जलकर राख हो गया। आरोपी की बहन की रिपोर्ट पर पुलिस द्वारा उसे गिरफ्तार कर लिया।

थानांतर्गत ग्राम पंचायत चैनपुर निवासी जगमतिया (60) इंदिरा आवास में अपनी पुत्री ललिता (30) के साथ निवास करती है। जगमतिया के पति की मौत वर्षों पहले हो चुकी है और उसकी पुत्री ही मजदूरी कर किसी प्रकार अपनी मां की देखभाल कर रही है। जगमतिया ने बताया कि सोमवार की शाम उसका पुत्र नंदलाल (40) ने शराब पीने के लिए उससे पैसों की मांग की। उसने कहा कि पैसे नहीं देने पर बेटे ने उनके साथ गाली-गलौज और वाद-विवाद करते हुए उन्हें मारने के लिए दौड़ाया। किसी प्रकार अपनी जान बचाकर पड़ोस में अपनी रात काटी। उसने बताया कि सुबह जब घर पहुंची तो घर से धुंआ उठ रहा था।

नहाकर लौटी तो देखा घर जल रहा

आस-पड़ोस के लोगों की मदद से आग पर काबू पाने के बाद वह नहाने के लिए घर से दूर तालाब में चली गई और दोबारा लौटकर देखा तो घर जल रहा था। पड़ोस के लोगों ने बताया कि जब उनके द्वारा आग पर काबू पाने का प्रयास किया गया तो घर के छज्जे पर बैठे आरोपी नंदलाल ने विवाद करते हुए उन्हें आग बुझाने से रोक दिया। बाद में आरोपी की बहन ललिता ने पुलिस थाने पहुंचकर घटना की सूचना दी। सूचना मिलते ही पुलिस और नपा के दमकल कर्मी सुरेश व बाबू वाहन लेकर पहुंचे और आग पर काबू पाया, लेकिन तब तक लाखों रुपए का सामान जलकर राख हो चुका था। घर की छत पर लगी सीमेंट की सीट भी क्षतिग्रस्त हो गई।

टीआई विमलेश दुबे ने बताया कि खर्च के लिए पैसे न देने पर घर में आग लगाने की रिपोर्ट आरोपी की बहन ललिता सारथी द्वारा पुलिस थाने में दर्ज कराई गई है। आरोपी नंदलाल पिता पतिराम सारथी (40) चैनपुर के खिलाफ केस दर्ज कर उसे गिरफ्तार किया गया है।

बेटी ने कड़ी मेहनत कर जोड़ा था गृहस्थी का सामान
दमकल कर्मी जब आग बुझाने में लगे हुए थे तब आरोपी की मां जगमतिया बाहर खड़े होकर फवक-फवक कर रो रही थी। उसने बताया कि उसके पुत्र ने घर में आग लगाकर सब कुछ खाक कर दिया है। उनके पास अब एक जोड़ी कपड़े ही बचे हैं। उसने बताया कि पति की मौत के बाद उसकी बेटी ललिता मेहनत-मजदूरी कर घर चला रही है। उसने कड़ी मेहनत कर गृहस्थी का सामान जोड़ा था, लेकिन बेटे ने घर में आग लगाकर सब कुछ नष्ट कर दिया। साथ ही उसने कहा कि बहू के साथ मारपीट करने पर तीन बार उसकी गिरफ्तारी हो चुकी है, लेकिन मां ने हजारों रुपए खर्च कर उसकी जमानत कराई थी।

पत्नी को थी शराब की लत, मना करने पर नहीं मानी तो जंगल में कर दी थी हत्या

पाली थाना अंतर्गत ग्राम कोडार के जमनीपाली निवासी ननकू राम (56) अपनी पत्नी नानबाई के साथ 2 मई को जंगल की आेर गया था। जहां से वापस आते समय वह पत्नी का शव लेकर लौटा। परिजनों व ग्रामीणों को उसने पत्नी के गिरने से मौत होना बताया। घटना की सूचना पुलिस को दिए बगैर शव का कफन-दफन कर दिया था। दो दिन बाद पाली पुलिस को इसकी सूचना मिली। मामला संदिग्ध मानकर कब्र से शव उखड़वाकर पोस्टमार्टम कराया। मृतका का पीएम रिपोर्ट मिलने पर उसमें धारदार हथियार से हमला कर हत्या करने का पता चला। पति ननकू राम को हिरासत में लेकर पूछताछ की गई। उसने पत्नी को शराब पीने की लत होने व मना करने पर भी नहीं मानने के कारण जंगल मार्ग नागर लोहा से हमला करके उसकी हत्या करना स्वीकार कर लिया। पुलिस ने हत्या का केस दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया।