मिस वर्ल्ड मानुसी हुई भावुक

हरियाणा की बेटी मानुषी छिल्लर ने मिस वर्ल्ड-2017 का ताज पहनने के बाद हुए एक इंटरव्यू में कुछ ऐसा बोलीं, जो उनकी बात पूरे देश को छू गई। पहले मिस हरियाणा, फिर मिस इंडिया और मिस वर्ल्ड बनने के बाद मानुषी के परिवारजनों ने जमकर जश्न मनाकर अपनी खुशी को बयां किया। साथ ही सदस्यों ने यह भी कहा कि मानुषी ने न सिर्फ परिवार को बल्कि पूरे राज्य का मान बढ़ाया है।

झज्जर जिले के बामनोली गांव की रहने वाली 20 वर्षीय मानुषी इस समय सोनीपत के भगत फूल सिंह मेडिकल कॉलेज में एमबीबीएस द्वितीय वर्ष की छात्रा हैं। मानुषी छिल्लर ने मिस वर्ल्ड-2017 का ताज पहनने के बाद हुए एक इंटरव्यू में कहा कि बचपन से, मैं इस प्रतियोगिता में हिस्सा लेना चाहती थी और मुझे यह कभी नहीं पता था कि मैं यहां तक पहुंच पाऊंगी। मिस वर्ल्ड का खिताब जीतना न केवल मेरा बल्कि मेरे परिवार और दोस्तों का भी सपना बन गया था।

मिस वर्ल्ड वेबसाइट की प्रोफाइल के अनुसार, 14 मई 1997 को जन्मी मानुषी कार्डिक सर्जन बनना चाहती हैं। साथ ही ग्रामीण इलाकों में नॉन-प्रॉफिट पर आधारित अस्पताल खोलने की इच्छा है। मानुषी की शुरुआती पढ़ाई बंगलूरू और दिल्ली में हुई। उन्होंने दिल्ली के सेंट थॉमस स्कूल और सोनीपत के भगत फूल सिंह गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज फॉर वूमेन से पढ़ाई की है। वह पढ़ाई के साथ सामाजिक कार्यों से भी जुड़ी रही हैं। मानुषी पेंटिंग और कुचीपुड़ी नृत्य में भी पारंगत हैं और बैले उनका पसंदीदा डांस है। उन्हें पैराग्लाइडिंग, बंजी जंपिंग और स्कूबा डाइविंग जैसे स्पोर्ट्स पसंद हैं।