मृतक के वॉट्सएप कॉल ने उलझाई पुलिस की जांच

सूखी सेवानिया में प्रिटिंग प्रेस कर्मचारी की हत्या कर लाश जलाने वाले मामले में पुलिस आरोपी के करीब पहुंच गई है। पुलिस के हाथ मृतक की शार्ट पीएम रिपोर्ट मिल गई है। उसमें उसकी मौत का कारण गला घोंटकर हत्या करना बताया गया है।

इधर मृतक की सीडीआर (कॉल डिटेल रिपोर्ट) ने जांच को रफ्तार धीमी कर दी है। मृतक सबसे ज्यादा वॉट्सएप कॉल करता था। इस कारण से उसके बात करने वालों को पूरा रिकॉर्ड मिलने में पुलिस को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। पुलिस सायबर एक्सपर्ट की मदद भी ले चुकी है, लेकिन कामयाबी नहीं मिल पा रही है। पुलिस हिरासत में संदेही पुलिस को सहयोग नहीं कर रहा है।

बता दें कि बीते सोमवार को दोपहर पौने बरखेड़ी गांव के जंगल में झाडिय़ों के पीछे उडिय़ा बस्ती निवासी हरि सिंह (23) पिता वीर सिंह की लाश मिली थी। पुलिस जांच में साफ हुआ कि हत्या करने के बाद उसे जलाया गया था। हत्या के लिए बाइक के पेट्रोल नोजल को खोलकर उससे पेट्रोल को चालू कर छोड़ दिया था। बाइक के स्टैंड से हरिसिंह को बांध दिया गया था। इसके बाद उसे जलाया गया। इस दौरान बाइक से पेट्रोल के गिरने के गिरते हुए उसका शव जलाया गया था। उसकी बाइक भी इसी कारण से जल गई थी।

मृतक हरि के साथ प्रिंटिंग प्रेस में काम करने वाले पड़ोसी से पुलिस संदेही के रूप में पूछताछ में जुटी है। हरि और उसका पड़ोसी दोनों एक साथ प्रिंटिंग प्रेस से रविवार शाम छह बजे घर जाने के लिए निकले थे। पूछताछ में संदेही राजाराम पुलिस को गुमराह कर रहा है। पुलिस साक्ष्य जुटाने में लगी है। पुलिस सूत्रों की माने तो मृतक की हत्या पारिवारिक क्लेश की ओर जा रही है। मृतक का संदेही के घर पर काफी आना-जाना था। पुुलिस की पूछताछ जारी है। जल्द ही मामले की खुलासा होगा।

इनका कहना है

इस हत्या में कुछ संदेहियों को हिरासत में लिया गया है। मृतक करीबी ही इस हत्या शामिल होने की आशंका है। शार्ट पीएम रिपोर्ट में में हत्या की पुष्टि हुई है। जल्द ही इस मामले में खुलासा किया जाएगा – संतोष कुमार सिंह, डीआईजी