मैक्सिको को 3-0 से हराकर स्वीडन विश्व कप के नॉकआउट दौर में

इकतारेनबर्ग। दुनिया की 24वें नंबर की टीम स्वीडन ने इकतारेनबर्ग में ग्रुप एफ के मुकाबले में 15वें नंबर की मैक्सिको को 3-0 से शिकस्त देकर नॉकआउट में प्रवेश किया। स्वीडन के लिए यह मैच करो या मरो का था और उनके लिए इस मैच को हर हाल में जीतना था लेकिन स्वीडन ने अपनी अच्छी रणनीति से मैक्सिको को मात दी। इस ग्रुप से मैक्सिको भी प्री-क्वार्टर फाइनल में पहुंच गया।

स्वीडन के लिए लुडविग ऑगस्टिंसन और एंड्रियास ग्रैनक्विस्ट ने गोल दागे। मैक्सिको की टीम स्वीडन के खिलाफ गोल तो नहीं कर पाई लेकिन उनके खिलाड़ी एडसन उमर अलवारेज आत्मघाती गोल कर बैठे और स्वीडन को एक गोल का फायदा और दे दिया।

पहले हाफ में स्वीडन और मैक्सिको के पास गोल करने के कई मौके आए लेकिन दोनों ही अपने प्रशसंकों को झूमने का मौका नहीं दे पाए। हालांकि 30वें मिनट में स्वीडन को पेनल्टी मिली लेकिन रेफरी नेस्टर पिटाना ने वीडियो एसिस्टेंट रेफरी (वार) का सहारा लिया जिसके बाद स्वीडन को पेनल्टी नहीं दी गई। फिर पहले हाफ के इंजुरी टाइम में स्वीडन के मार्कस बेरग के पास गोल करने का मौका मिला लेकन वह टीम का खाता नहीं खोल सके। उनका शॉट गोल पोस्ट से ऊपर चला गया। पहला हाफ गोलरहित रहा।

दूसरे हाफ में दोनों टीमों गोल करने में जरूर रही लेकिन मैक्सिको ने मुफ्त में स्वीडन को एक गोल दे दिया। विक्टर ने डी के अंदर एक अच्छा पास लुडविग को दिया फिर उन्होंने बायें पैर से गेंद पर शॉट मारा लेकिन वह गोलकीपर के हाथ से लगकर पोस्ट में जा घुसी। स्वीडन ने यहां से 1-0 की उपयोगी बढ़त हासिल की। फिर इसके बाद स्वीडन के स्ट्राइकरों का प्रहार जारी रहा। इस बीच, स्वीडन को पेनल्टी मिली और कप्तान एंड्रियास ने ऊंचा शॉट मारा जिसे गोलकीपर रोक नहीं पाए और स्वीडन 2-0 से आगे हो गया। लेकिन मैक्सिको के एडसन उमर अलवारेज आत्मघाती गोल कर बैठे और स्वीडन की जीत का अंतर 3-0 कर दिया।