मोनिका यादव बनीं आईएएस, इंटरव्यू में पीएनबी घोटाले के बारे में पूछा

श्रीमाधोपुर (सीकर)। यूपीएससी ने शुक्रवार को सिविल सर्विसेज एग्जाम-2017 के नतीजे जारी किए। श्रीमाधोपुर क्षेत्र के गांव लिसाडिया की मोनिका यादव ने आईएएस परीक्षा में 403 रैंक प्राप्त की है। इससे पहले मोनिका आरएएस परीक्षा में 93 वीं रेंक प्राप्त कर चुकी हैं। मोनिका के पिता हरफूल सिंह यादव धौलपुर में एडीएम हैं। मोनिका की माता सुनीता ग्रहिणी हैं। तीन भाई बहनों में मोनिका सबसे बड़ी हैं। छोटी बहन सोनिका कॉलेज में तो छोटा भाई गगन 11 वीं कक्षा में स्टडी कर रहा है। मोनिका ने भास्कर डॉट कॉम को दिए इंटरव्यू में अपनी सफलता के बारे में बात की।

सवाल : आपका इंटरव्यू कितने समय चला?
जवाब : मेरा इंटरव्यू करीब 30 मिनट चला।
सवाल : आपसे क्या सवाल पूछे गए?
जवाब : मुझसे इंटरनेशनल रिलेशंस, इंडिया ईरान रिलेशन, सीए की नॉलेज पर कई सवाल पूछे गए। मेरा इंटरव्यू 14 मार्च को था। तब पीएनबी का स्कैम काफी चर्चा में था। उस पर भी मुझसे सवाल पूछे गए। साथ ही आरबीआई को लेकर सवाल पूछे गए।
सवाल : आपका यह पहला चांस था?
जवाब : हां इंटरव्यू मेरा पहला था।
सवाल : इंटरव्यू देते समय घबराहट थी?
जवाब : हां थोड़ी घबराहट थी, लेकिन मैं खुश थी। मैंने पोजिटिविटी मेंटनेन की।
सवाल : आप इस सफलता का श्रेय किसे देना चाहेंगी?

जवाब : श्रेय मम्मी-पास-दादाजी को देना चाहूंगी। लेकिन खास श्रेय नानी को दूंगी। वे बहुत स्ट्रांग लेडी हैं और उन्हें देखकर मुझे काफी शक्ति मिलती है।
सवाल : जो बच्चे स्टडी कर रहे हैं उन्हें कुछ संदेश देना चाहेंगी।
जवाब : मैं यही संदेश देना चाहूंगी कि अच्छे से मेहनत करें, कंजिस्टेंसी मेनटेन करें और अपने दिमाग को खुला रखें। नए विचारों को आने दें। बहुत ज्यादा रिजिड हम हो जाते हैं तो चीजें बहुत ज्यादा कठिन लगने लगती हैं।