युवक की हत्या का फर्जी वीडियो दिखाकर आरोपियों ने सुपारी देने वाले से लूटे 60 हजार

कवर्धा (रायपुर)।सुपारी लेकर पुणे (महाराष्ट्र) के जंगल में एक युवक की हत्या का नकली सीन क्रिएट कर वीडियो क्लिप बनाई। फिर इसे दिखाकर साजिश रचने वाले से 2 आरोपियों ने 60 हजार रुपए ऐंठ लिए। इसका खुलासा तब हुआ, जब युवक पुणे से अपने गांव लौटा। ये अजीबो-गरीब मामला दशरंगपुर चौकी के पेंड्रा का है। पुलिस ने इस मामले में तीन लोगों को गिरफ्तार किया है।
– कबीरधाम के एएसपी अनंत साहू ने बताया कि पेंड्रा निवासी सुनील चंद्राकर (24) अपने ही गांव के पेखन चंद्राकर (40) की बेटी पर शादी के लिए लगातार दबाव डाल रहा था। इस बीच सुनील काम करने के लिए शास्त्री नगर पुणे चला गया। वहां जाने के बाद भी वह मोबाइल पर मैसेज कर लड़की को परेशान कर रहा था।
इससे तंग आकर पेखन ने उसकी हत्या की साजिश रची थी।
– पेखन ने सुनील की हत्या करने के लिए दुर्ग के राजीव नगर निवासी रामकुमार वर्मा और अजीत साहू को सुपारी दी। 60 हजार रुपए में सौदा तय हुआ। 15 हजार रुपए एडवांस दे दिया था। इसके बाद दोनों आरोपी ट्रेन से 4 अक्टूबर को पुणे पहुंचे, जहां वे सुनील से मिले और अपने मंसूबों के बारे में सब कुछ सच-सच बता दिया।
– साथ ही धमकाया भी कि यदि वह हत्या की फर्जी सीन तैयार करने में मदद करे, वरना मजबूरी में उसकी हत्या करनी पड़ेगी। जान बचाने के लिए सुनील राजी हो गया। फिर आरोपियों ने उसे शहर से कुछ दूर जंगल में ले जाकर लेटा दिया।
– उसके कपड़े पर टमाटर सॉस लगाकर मोबाइल से वीडियो क्लिप बनाई। पुणे के लौटने के बाद दोनों ने पेखन चंद्राकर को क्लिप दिखाई और सुपारी के बचे हुए 45,000 रुपए ले लिए।
सुनील को जिंदा देख तिलमिला उठा आरोपी
– सात दिन पहले सुनील पुणे से अपने गांव पेंड्रा लौटा। उसे जिंदा देखकर पेखन तिलमिला उठा। दोनों के बीच मारपीट हुई, तो मामला दशरंगपुर चौकी में पहुंचा। यहां पर सुनील ने अपने साथ हुए वाकये के बारे में पुलिस को बताया। जांच में जुटी पुलिस ने पहले तो पेखन को रिमांड में लेकर पूछताछ की।
– उसकी निशानदेही पर 27 अक्टूबर को दुर्ग से आरोपी रामकुमार वर्मा और अजीत साहू को भी गिरफ्तार कर लिया। मामले में पुलिस ने शनिवार दोपहर को धारा 115, 120बी, 34 के तहत तीनों को ज्यूडिशियल रिमांड में जिला जेल दाखिल करवा दिया गया है।