यूपी विधानसभा की विस्फोटक मिलाने के बाद चाक-चौबंद सुरक्षा, ये होंगे नए नियम

लखनऊ : उत्‍तर प्रदेश विधानसभा में विस्‍फोटक मिलने के बाद सदन की सुरक्षा में बड़े बदलाव किए जाएंगे. मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने इसे किसी शरारती तत्‍व की साजिश करार दिया है. उन्‍होंने कहा कि साजिश रचने वाले को बख्‍शा नहीं जाएगा. इस पूरे मामले की जांच एनआईए से कराने की सिफारिश की जा चुकी है.

विस्‍फोटक PETN नेता प्रतिपक्ष की सीट से लगभग 50-60 मीटर की दूरी पर मिला था. इस विस्‍फोटक को आमतौर पर बंकर को नष्‍ट करने में इसका प्रयोग किया जाता है. जानकारों के अनुसार मेटल डिटेक्‍टर और खोजी कुत्‍ते भी इस विस्‍फोटक की पहचान नहीं कर पाते. मिले हुए विस्फोटक की मात्रा करीब 150 ग्राम थी. मुख्‍यमंत्री ने बताया कि 500 ग्राम PETN पूरे विधानसभा भवन को उड़ाने के लिए काफी होता.

इस विस्‍फोटक को आमतौर पर बंकर को नष्‍ट करने में इसका प्रयोग किया जाता है. विस्‍फोटक मिलने के बाद विधानसभा के सुरक्षा के लिहाज से कई महत्‍वपूर्ण बदलाव किए जा रहे हैं, इनमें से कुछ बदलाव इस तरह के होंगे. आपको बता दें कि फिलहाल यूपी विधानसभा का ट्रिपल लेयर सिक्‍योरिटी सिस्‍टम है

ये होंगे बदलाव

– पूरे विधानसभा भवन में एटीएस भी तैनात की जाएगी.
– विधानसभा की सुरक्षा में QRT टीम तैनात की जाएगी.
– विधायक फोन लेकर न आएं, फोन लेकर आएं तो उसे साइलेंट मोड पर रखे.
– सभी विधायक विधानसभा में केवल नोटबुक ही साथ लेकर आएंगे.
– विधानसभा में काम करने वाले सभी कर्मचारियों का पुलिस वेरिफिकेशन कराया जाएगा.
– सदन में बिना पास के किसी भी वाहन को एंट्री नहीं दी जाएगी.
– सभी बैग और मोबाइल रखने के लिए विधानसभा के बाहर व्यवस्था होगी.
– विधायक और स्‍टाफ को छोड़कर सभी के पास रद्द जाएंगे.
– सुरक्षा के लिहाज से पूर्व विधायकों के पास भी रद्द किए जाएंगे.
– सभी पुरानी गाड़ियों के पास भी रद्द किए जाएंगे.
– विधानसभा के सभी एंट्री गेट पर बॉडी स्‍कैनर लगाए जाएंगे.
– मौजूदा विधायक के ड्राइवर के भी पास बनाए जाएंगे.
– सीसीटीवी कैमरे से भी पहले से ज्‍यादास सुरक्षा पर नजर रखी जाएगी.