रंग काला होने का देते थे ताना, महिला ने खाने में दिया जहर, 5 मरे और 120 बीमार

मुंबई। किसी का गोरा या काला होना उसके हाथ में नहीं है लेकिन समाज में रंग को लेकर व्यवहारिक भेदभाव अक्सर देखा जाता है। यह भेदभाव ज्यादातर महिलाओं के झेलना पड़ता है और कई बार इसका नतीजा ऐसा होता जो किसी ने सोचा भी ना हो।

महाराष्ट्र के नवी मुंबई में भी ऐसा ही कुछ हुआ है। यहां एक महिला को उसके रिश्तेदार अक्सर उसके काले रंग को लेकर ताने देते थे। आखिर में तंग आकर उसने अपने 120 रिश्तेदारों को खाने में जहर दे दिया। जहरीला खाना खाने से अब तक 5 लोगों की मौत हो गई है वहीं अन्य का इलाज जारी है। पुलिस ने महिला को गिरफ्तार कर लिया है।

जानकारी के अनुसार मामला रायगढ़ के महाड का है जहां खपोली की रहने वाली 23 वर्षीय महिला ने परिवार में हो रही पार्टी के दौरान यह कदम उठाया। प्रदन्या नाम कि इस महिला ने पार्टी में बने खाने में पेस्टीसाइड मिला दिया था। यह पार्टी उसके एक रिश्तेदार सुभाष माने ने दी थी और महिला इस रिश्तेदार के अलावा अपने पति, सास और दो ननदों को मारना चाहती थी। इन सभी पर आरोप है कि पिछले दो साल यह लोग महिला को काले रंग का ताना देते आ रहे थे।

आरोप है कि आरोपी महिला की सास सुभाष माने की रिश्ते में साली लगती है। महिला के अनुसार उसकी सास ने माने और उसके ससुराल वालों को उसके बारे में कई झूठी बातें बताई थी जिसके चलते उसकी शादी टूटने की नौबत आ गई।

रायगढ़ एसपी के अनुसार जब सुभाष माने ने सभी को घर खाने पर बुलाया तो महिला को मौका मिल गया। खाना परोसने वालों में महिला भी शामिल थी और इसी का फायदा उठाते हुए उसने दाल में जहर मिलाकर परोस दिया। हालांकि, इस दाल को खाने से महिला का पति, सास और सुभाष माने बच गए क्योंकि उन्होंने पहले ही खाना का लिया था। पुलिस ने महिला को गिरफ्तार कर लिया है।