राजस्थान में भूकंप के झटके, नागौर में था भूकंप का केंद्र

जयपुर

राजस्थान में शुक्रवार सुबह भूकंप के हल्के झटके महसूस किए गए। भूकंप के झटकों की तीव्रता रिक्टर स्केल पर 3.8 रही। जयपुर के ग्रामीण क्षेत्र में भूकंप के झटकों से कुछ मकानों में दरारें आई, हालांकि जनहानि होने की अभी तक कोई सूचना नहीं मिली है। मौसम विज्ञान केंद्र ने आगामी दिनों में भूगर्भीय हलचल होने पर आफ्टर शॉक आने की संभावना जताई है।मौसम विभाग के अनुसार, भूकंप का केंद्र नागौर के नावां में रहा है। अजमेर स्थित भूकंपमापी केंद्र ने बताया कि जमीन में भूकंप की गहराई दस किमी रही। भूकंप का केंद्र 27.1 डिग्री उत्तर व 75.5 डिग्री पूर्व रहा है। जयपुर जिले के दूदू, मौजमाबाद पंचायत क्षेत्र में कुछ मकानों में दरारें आने की सूचना मिली है हालांकि कम तीव्रता वाले भूकंप के झटकों से फिलहाल जानमाल के नुकसान की कोई खबर नही है।

किशनगढ़-रेनवाल कस्बे में शुक्रवार सुबह भूकंप के झटके 10-12 सेकण्ड तक महसूस किए गए। स्थानीय महेश कुमार,लालाराम, सुरजाराम, मोहन लाल, रामसहाय ने बताया कि भूकंप के झटकों से लोगों में भय व्याप्त हो गया और वो घरों से बाहर निकल आए। फिलहाल कस्बे में किसी अप्रिय घटना होने की पुष्टि नहीं हुई है।

सुरक्षित जोन में जयपुर

मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार मौसम विज्ञान केंद्र ने भूकंप की तीव्रता के आकलन के अनुसार जयपुर जिले को सिस्मिक जोन द्वितीय में रखा है जिसमें जमीन में भूकंपीय हलचलों की समीक्षा के अनुसार जयपुर व आस पास के जिलों में कम तीव्रता वाले भूकंप के झटके आने की संभावना कम होने पर सुरक्षित जोन माना गया है। हालांकि राजधानी दिल्ली और अलवर एनसीआर क्षेत्र को भूगर्भीय हलचल के अनुसार असुरक्षित जोन में रखा गया है।

आफ्टर शॉक का अंदेशा

मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार प्रदेश के पश्चिमी इलाकों में बलुई मिट्टी क्षेत्र अधिक है लेकिन  भूगर्भीय सतह में बदलाव होने पर भूकंप आने के कुछ समय व अगले कुछ दिनों में आॅफ्टर शॉक से भूकंप आने की संभावना ज्यादा रहती है। मौसम विभाग ने प्रदेश में आफ्टर शॉक आने की संभावना जताई है।

सोते रहे लोग

जयपुर में यह झटके आए तो सही लेकिन अल सुबह आने के कारण नींद में रहे ज्यादातर लोगों को इसका अहसास नहीं हो सका। भूकंप की जानकारी मिलते ही लोग एक दूसरे से पूछते नजर आए कि झटके महसूस हुए थे क्या?

Leave a Reply