राजस्थान यूनिवर्सिटी: एमए की परीक्षा में ‘भाजपा’ पर लिखने आया निबंध

राजस्थान यूनिवर्सिटी की एमए की परीक्षा में भारतीय ‘भारतीय जनता पार्टी की विचारधारा और कार्यक्रम’ विषय पर निबंध लिखने के सवाल पर विवाद खड़ा हो गया है. कांग्रेस युवा मोर्चा की ओर जारी बयान में आरोप लगाया गया है कि भाजपा युवाओं पर साजिश के तहत अपने विचार थोप रही है. युवा कांग्रेस के प्रवक्ता सादिक चौहान ने कहा है कि वसुंधरा सरकार में हो रहे इसे तरह के फैसले के विरोध में राजस्‍थान यूनिवर्सिटी में प्रदर्शन किया जाएगा.

मालूम हो कि राजस्थान यूनिवर्सिटी में एमए अंतिम साल प्रश्‍न पत्र में परीक्षार्थियों से ‘भारतीय जनता पार्टी की विचारधारा और कार्यक्रम’ विषय पर निबंध लिखने का कहा गया है. यह प्रश्न शुक्रवार को हुई परीक्षा में परीक्षार्थियों को दिया गया था. समकालीन राजस्थान (1956-2010) विषय के पेपर में प्रश्न संख्या 16 पर दो छात्रों ने भी अपत्ती दर्ज कराई है. हालांकि छात्रों ने अपनी परीक्षा नहीं छोड़ी.

पेपर निरीक्षक डॉ गोपाल शरण गुप्ता ने कहा, ‘दो छात्रों ने इस प्रश्न का विरोध किया. एक छात्र दीपक डिंडोरिया ने कहा, ‘किसी खास राजनैतिक मकसद को ध्यान में रखकर पेपर तैयार किया है और पेपर एक खास विचारधारा पर आधारित था.’ हालांकि गुप्ता ने दावा किया कि मौजूदा राजनैतिक पार्टी कोर्स का हिस्सा हैं. उन्होंने कहा, ” मैंने छात्रों से कहा कि अगर उन्हें कोई शिकायत है तो वें अपना विरोध दर्ज करा सकते हैं.’

मालूम हो कि इससे राजस्‍थान में पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू का नाम पाठ्यक्रम से हटाने को लेकर भी विवाद हो चुका है. इसके अलावा राजस्थान की स्कूली किताबों से सूचना का अधिकार(आरटीआई) एक्ट को हटाए जाने के मामले ने भी काफी तूल पकड़ा था. आरटीआई एक्ट का उल्लेख पिछले पाठ्यक्रम में कक्षा आठ की सोशल साइंस किताब पेज नंबर 105 पर था. इस में सूचना के अधिकार और इससे के लिए आंदोलन करने वालों के बारे में उल्लेख था.

इसके अलावा राजस्थान के स्कूलों में अब अकबर महान नहीं बल्कि महाराणा प्रताप को महान पढ़ाया जाएगा. नए शिक्षा सत्र से स्कूलों में पाठ्क्रम में बदलाव के साथ नई पुस्तकें में बच्चे अब मेवाड़ के सूरवीर महाराणा प्रताप के शौर्य और पराक्रम का पाठ पढ़ेंगे. दरअसल, राजस्थान सरकार की ओर से स्कूली शिक्षा के पाठ्यक्रम में परिवर्तन कर अब मेवाड़ के सूरवीर महाराणा प्रताप के शौर्य और पराक्रम को राज्य के स्कूली शिक्षा का पाठ्यक्रम में शामिल किया है.

Leave a Reply