राजे के मंत्री ने एसपी से कहा, जाति के कारण यहां लगाया, लेकिन आप साथ नहीं दे रहे

जयपुर। राजस्थान की वसुंधरा राजे सरकार के जनजाति विकास मंत्री नंदलाल मीणा ने समाज के एक कार्यक्रम में मंच से प्रतापगढ़ के जिला पुलिस अधीक्षक से कहा कि आपको जाति के कारण यहां लगवाया, लेकिन आप जाति के लोगों का साथ नहीं दे रहे। मंत्री ने एक दुष्कर्म पीड़िता को मंच पर भी बैठाया।

प्रतापगढ़ जिले में एक आदिवासी बच्ची के साथ कथित दुष्कर्म के मामले को लेकर लगाता प्रदर्शन हो रहे हैं। इसी मामले को लेकर प्रतापगढ़ के सालमगढ़ में बुधवार को आदिवासियों की बैठक लेने पहुंचे जनजाति मंत्री नंदलाल मीणा आदिवासी बच्ची के साथ कथित दुष्कर्म के मामले में आदिवासियों के पक्ष में कार्रवाई नहीं होने पर एसपी और एएसपी को फटकार लगाई।

मंत्री ने कथित दुष्कर्म पीड़िता को सबके सामने मंच पर बैठा दिया। उन्होंने प्रतापगढ़ जिला पुलिस अधीक्षक शिवराज मीना को कार्यक्रम में बुलवाया और कहा कि एक केबिनेट मंत्री यहां बैठा है तो उनको भी यहां होना चाहिए था। मंत्री ने दुष्कर्म के मामले में अब तक आरोपियों को गिरफ्तार नहीं होने पर सवाल किया और कहा कि आपको जाति की वजह से यहां पर लगाया है और आप अपने ही लोगों के प्रति इस तरह का सलूक कर रहे हैं।

इसके बाद मंत्री ने एएसपी रतनलाल भार्गव से पूछा कि पीड़िता दुष्कर्म होने की बात कह रही है, फिर भी मामला दर्ज क्यों नहीं किया। इस पर भार्गव ने कहा कि जांच व मेडिकल में दुष्कर्म की पुष्टि नहीं हुई है।

एएसपी के यह कहने पर मंत्री मीणा भड़कते हुए बोले कि पीड़िता का कहना ही बहुत है। तब एएसपी भार्गव ने बताया कि आदिवासी समाज की तरफ से दर्ज रिपोर्ट पर पुलिस ने कार्रवाई करते हुए दो लोगों को जेल भिजवाया है।

बाद में मंत्री ने तीन अन्य आरोपियों पर कार्रवाई करने के निर्देश देते हुए उन्हें गिरफ्तार करने के निर्देश दिए।

उधर पीडिता को मंच पर बैठाए जाने के मामले में राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष सुमन शर्मा का कहना है कियह पूरी तरह से गलत, अगर ऐसा हुआ है तो मामले की जांच की जाएगी।