रायपुर : किसानों के परिश्रम और पसीने का सम्मान समारोह है बोनस तिहार: मुख्यमंत्री डॉ. सिंह : मुख्यमंत्री ने रायपुर जिले के 93 हजार किसानों को बांटा 141 करोड़ रूपए का बोनस

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि हमारे किसान भरी धूप और बारिश में मेहनत कर अन्न का एक-एक दाना उपजाते है। उनके इस उत्साह और परिश्रम को कोई भी आपदा रोक नही सकती है। बोनस तिहार किसानों के इसी उत्साह, परिश्रम और उनके पसीने का सम्मान समारोह है। प्रदेश के किसानों को धान का बोनस देने का जो संकल्प राज्य सरकार ने लिया था, वह बोनस तिहार के माध्यम से पूरा हो रहा है। मुख्यमंत्री डॉ. सिंह आज यहां रायपुर जिले के नगर पंचायत खरोरा के मिनी स्टेडियम में आयोजित बोनस तिहार में उपस्थित किसानों के विशाल जनसमुदाय को संबोधित कर रहे थे। डॉ. सिंह ने कार्यक्रम में ऑनलाईन ट्रॉन्सजेेक्शन के माध्यम से लैपटॉप में एक क्लिक किया और जिले के 93 हजार 257 किसानों के खाते में 141 करोड़ 3 लाख रूपए का बोनस चला गया। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर कुछ किसानों को प्रतीकात्मक स्वरूप बोनस के चेक भी प्रदान किए। डॉ. सिंह ने इस अवसर पर 61 करोड़ रूपए के विभिन्न विकास कार्यो का लोकार्पण एवं भूमिपूजन कर क्षेत्रवासियों को इसकी सौगात भी दी साथ ही केन्द्र और राज्य सरकार की विभिन्न योजनाओं के तहत बड़ी संख्या में हितग्राहियों को सामग्री और अनुदान राशि के चेक प्रदान किए।
मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए आगे कहा कि किसानों के आशीर्वाद से ही प्रदेश निरंतर विकास के पथ पर अग्रसर है। किसानों की बेहतरी सरकार की पहली प्राथमिकता है और सरकार इस दिशा में लगातार चिंता और व्यवस्था भी कर रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य निर्माण के समय किसानों को जहां 15 से 16 प्रतिशत ब्याज में कुल 300 करोड़ रूपए का ऋण मिलता था वह अब बिना किसी ब्याज के 35 हजार करोड़ रूपए का ऋण दिया जा रहा है। सहकारी समितियों के माध्यम से जहां 6 लाख मेट्रिक टन धान की खरीदी होती थी वहीं आज 11 हजार करोड़ रूपए का 70 लाख मेट्रिक टन धान की खरीदी जा रही है। सरकार किसानों के सुख-दुख में हमेशा साथ है।
उन्हें किसी भी प्रकार की चिंता करने की जरूरत नही है, क्योंकि सरकार द्वारा उन्हें प्राकृतिक आपदा से बचाने के लिए तीन तरह से लाभ पहुंचाया जा रहा है। अल्प वर्षा से जहां फसल खराब हो गई है वहां किसानों को आरबीसी 6-4 के तहत सहायता राशि के साथ ही प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का लाभ दिलाया जा रहा है।  पिछले साल खरीदे गए धान का बोनस इस दीवाली से पहले दिया जा रहा है वहीं इस साल खरीदे गए धान का बोनस किसानों को अगले साल दीवाली के पहले मिल जाएगा।
समारोह को संबोधित करते हुए रायपुर के सांसद श्री रमेश बैस ने कहा कि 14 सालों  में राज्य में सिंचाई का रकबा बढ़ा है, किसानों को उन्नत बीज, सिंचाई के लिए पानी और पर्याप्त बिजली मुहैया करायी जा रही है। खाद्य मंत्री और रायपुर जिले के प्रभारी मंत्री श्री पुन्नूलाल मोहले ने कहा कि केन्द्र और राज्य सरकार की योजनाओं से आज लोगांे के जीवन में खुशहाली देखी जा सकती है। पूर्व सांसद सुश्री सरोज पाण्डेय ने कहा कि विगत 14 वर्षो में छत्तीसगढ़ राज्य में तेजी से विकास हुआ है। राज्य शासन द्वारा दीपावली के पूर्व किसानों को बोनस दिये जाने का वादा पूरा किया जा रहा है। कार्यक्रम को धरसींवा के विधायक श्री देवजी भाई पटेल, आरंग के विधायक श्री नवीन मारकण्डेय ने भी संबोधित किया। इस अवसर पर कृषि एवं जल संसाधन मंत्री श्री बृजमोहन अग्रवाल, राज्यसभा सांसद श्री भूषणलाल जांगड़े, रायपुर (उत्तर) विधायक श्री श्रीचंद सुंदरानी, राज्य सहकारी बैंक के अध्यक्ष श्री अशोक बजाज, कृषि एवं बीज विकास निगम के अध्यक्ष श्री श्याम बैस, छत्तीसगढ़ वित्त आयोग के अध्यक्ष श्री चंद्रशेखर साहू सहित अनेक वरिष्ठ जनप्रतिनिधि और विभिन्न संस्थाओं के पदाधिकारी उपस्थित थे। कलेक्टर श्री ओ.पी.चौधरी ने कार्यक्रम के संबंध में प्रतिवेदन प्रस्तुत किया।
खरोरा में आयोजित ’बोनस तिहार’ में रायपुर जिले के 93 हजार 257 किसानों को 141 करोड़ तीन लाख रूपए की राशि बोनस के रूप में प्रदान किया गया। इसमें धरसींवा विकासखंड के 12 हजार 571 किसानों को 19.76 करोड़ रूपए, तिल्दा विकासखंड के 24 हजार 647 किसानों को 38.68 करोड़ रूपए, आरंग विकासखंड के 34 हजार 106 किसानों को 51.70 करोड़ रूपए और अभनपुर विकासखंड के 21 हजार 933 किसानों को 30.88 करोड़ रूपए का बोनस दिया गया। कार्यक्रम में करीब दो हजार हितग्राहियों को 20 करोड़ की सामग्री और अनुदान राशि के चेक प्रदान किए गए। इसमें श्रम विभाग की मुख्यमंत्री सायकल सहायता योजना, भगिनी प्रसूति सहायता और नौनिहॉल छात्रवृत्ति योजना के साथ ही प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना, मुद्रा योजना, उजाला योजना, सक्षम योजना, महिला कोष तथा कृषि विभाग की विभिन्न योजनाआंे के तहत बड़ी संख्या में हितग्राहियांे को लाभान्वित किया गया।
इस अवसर पर जिन कार्यो का भूमिपूजन किया जाएगा उनमें नगर पंचायत खरोरा में 19.33 करोड़ रूपए की जल आवर्धन योजना, 24.18 करोड़ की लागत से महानदी मुख्य नहर एवं उनके माइनरों लाईनिंग कार्य के साथ ही गौण खनिज मद से जिले में खनन प्रभावित 6 गांवो को आदर्श ग्राम के रूप विकसित करने के कार्य प्रमुख रूप से शामिल है। इसके साथ ही खरोरा में 1.59 करोड़ की लागत से बने सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र भवन और 1.76 करोड़ की लागत से वीरसावरकर नगर व भनपुरी में बने प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र भवन तथा खरोरा के पुलिस थाना भवन का लोकार्पण इस अवसर पर किया गया।क्रमाक: 10-22/पवन