रायपुर : जागृति के साथ हर क्षेत्र में सशक्त हुई है महिलांए: डॉ. रमन सिंह

मुख्यमंत्री शामिल हुए महिला सम्मेलन में
लगभग 20 हजार महिलाओं ने किया सामूहिक कर्मा नृत्य
रायपुर, 06 मार्च 2018
मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज कबीरधाम जिले के मुख्यालय कवर्धा के करपात्री स्टेडियम में आयोजित महिला सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि प्रदेश में बस्तर से लेकर सरगुजा तक पूरे प्रदेश में महिलाओं में जागृति आयी है, हर क्षेत्र में महिलाएं सशक्त हुई हैं। शासन की सभी योजनाओं में उनकी भागीदारी बढ़ी है और वे आर्थिक रूप से भी मजबूत हुई हैं। इस अवसर पर उन्होंने महिला शक्ति का नमन करते हुए यहां आयोजित महिला सम्मेलन एवं करमा नृत्य के सफल आयोजन पर बधाई एवं शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि कबीरधाम जिले के 400 से अधिक गांवों की लगभग 20 हजार महिलाओं ने करमा नृत्य में उपस्थिति दर्ज करा कर अपनी शक्ति का प्रदर्शन किया है। कवर्धा में यह अपनी तरह का पहला आयोजन है।
मुख्यमंत्री ने महिला सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि रंग पंचमी के शुभ अवसर पर जिले की बहनों ने बड़ी संख्या में उपस्थित होकर इस कार्यक्रम को सफल बनाया है। छत्तीसगढ़ की पहचान हमारी गौरवशाली कला और संस्कृति से है, जिसे आज यहां महिलाओं ने प्रदर्शित किया। उन्होंने कहा कि राज्य के विकास में महिलाओं का महत्वपूर्ण योगदान है। महिलाएं विकास की गाथा लिख रही हैं। स्वसहायता समूहों के माध्यम से योजनाओं के संचालन में इनकी बड़ी भूमिका है। राज्य शासन द्वारा पंचायतराज व्यवस्था में महिलाओं को 50 प्रतिशत आरक्षण प्रदान कर उनकी भागीदारी सुनिश्चित की गई है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा अधोसंरचनाओं विकास के कार्यों के तहत सड़क, पुल-पुलिया, स्कूल भवनों का निर्माण किया गया है, वहीं पानी, बिजली की पर्याप्त व्यवस्था भी की गई है। महिला शक्ति पर भरोसा कर महिलाओं के हाथों में खाद्यान्न वितरण की व्यवस्था भी सौंपी गई है। महिलाओं के नाम से राशन कार्ड बनाया गया है। इससे पहले मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने मुख्यमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना के हितग्राहियों को स्मार्ट कार्ड का वितरण किया। उन्होंने रैनबसेरा का संचालन करने वाली संगम महिला संगठन की सदस्यों को सम्मानित किया।
पूर्व विधानसभा अध्यक्ष श्री धरम लाल कौशिक ने महिला सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि प्रदेश की महिलाओं में जागृति आयी है, जिसके परिणाम स्वरूप यहां महिलाओं का महाकुंभ आयोजित हुआ। राज्य शासन द्वारा महिलाओं को आगे बढ़ाने और उनके सशक्तिकरण के लिए अनेक योजनाओं का संचालन किया जा रहा है। योजनाओं में महिलाओं की भागीदारी सुनिश्चित की जा रही है। उन्होंने कहा कि किसी भी देश की पहचान उसकी संस्कृति से होती है। पूरे प्रदेश में करमा नृत्य अपना विशेष स्थान रखता है। उन्होंने कहा कि महिलाओं में जागृति और सशक्तिकरण के फलस्वरूप स्वास्थ्य, शिक्षा के क्षेत्र में इसका प्रभाव दिखाई देता है। श्री कौशिक ने मितानिनों के योगदान की भी सराहना की और कहा कि उनके प्रयासों से शिशु मृत्यु दर में कमी आयी है।
लोकसभा सांसद श्री अभिषेक सिंह ने कहा कि जिले के 400 से अधिक गांवों की मातृ शक्ति का आगमन आज यहां हुआ है, इसके लिए उन्होंने सभी को बधाई एवं शुभकामनाएं दी। लोक सभा सांसद ने कहा कि शासन की कई योजनाओं के संचालन में महिलाओं की महत्वपूर्ण भूमिका है। स्वच्छ भारत अभियान में स्वर्गीय कुंवर बाई की भूमिका से हम सभी अवगत है। उन्होंने छत्तीसगढ़ को गौरवन्वित किया। प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के माध्यम से महिलाओं को गैस सिलेण्डर एवं चूल्हा प्रदान किया जा रहा है। आज महिलाएं शिक्षा सहित अन्य क्षेत्रों में भी अग्रणी भूमिका निभा रही है। छोटे-छोटे लघु एवं कुटीर उद्योगों के माध्यम से आर्थिक रूप से सशक्त हो रही है। कवर्धा विधायक श्री अशोक साहू ने उपस्थित समुदाय का स्वागत किया ।
इस अवसर पर संसदीय सचिव श्री मोतीराम चंद्रवंशी, छत्तीसगढ़ राज्य पिछड़ा वर्ग आयोग के अध्यक्ष डॉ. सियाराम साहू, बेमेतरा विधायक श्री अवधेश चंदेल, जिला पंचायत कबीरधाम के अध्यक्ष श्री संतोष पटेल, कवर्धा नगरपालिका अध्यक्ष श्रीमती देवकुमारी चंद्रवंशी, उपाध्यक्ष श्री मनोज गुप्ता कवर्धा जनपद पंचायत अध्यक्ष श्रीमती ज्योति चंद्राकर, सहसपुर लोहारा जनपद पंचायत अध्यक्ष श्रीमती पुष्पा पांडेय, आई.जी. श्री जी.पी.सिंह, कबीरधाम कलेक्टर श्री नीरज कुमार बनसोड़, पुलिस अधीक्षक श्री लाल उमेंद सिंह सहित अनेक जनप्रतिनिधि, बड़ी संख्या में महिलाएं और ग्रामीण उपस्थित थे।