रायपुर : मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में स्वास्थ्य विभाग और श्री सत्यसांई संजीवनी अस्पताल के मध्य समझौता ज्ञापन (एम.ओ.यू.)

छत्तीसगढ़ के बाल हृदय से पीडि़त बच्चों का होगा प्राथमिकता से इलाज
श्री सत्यसांई संजीवनी अस्पताल में बनाया जाएगा विशेष प्रकोष्ठ
रायपुर, 06 मार्च 2018
मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की अध्यक्षता में आज शाम यहां उनके निवास कार्यालय में राज्य सरकार और श्री सत्य सांई संजीवनी अस्पताल नया रायपुर के बीच समझौता ज्ञापन (एम.ओ.यू.) पर हस्ताक्षर हुआ। राज्य शासन की तरफ से स्वास्थ्य सचिव श्री अनिल साहू और श्री सत्य सांई संजीवनी अस्पताल की तरफ से श्री अनिल कटेवा ने हस्ताक्षर किए। इसके अंतर्गत श्री सत्य सांई संजीवनी अस्पताल में स्वास्थ्य विभाग द्वारा हृदय रोग से पीडि़त बच्चों के लिए एक प्रकोष्ठ बनाया जाएगा। इसके तहत मुख्यमंत्री बाल हृदय योजना के अंतर्गत सिर्फ छत्तीसगढ़ के हृदय रोग से पीडि़त बच्चों का प्राथमिकता से इलाज किया जाएगा। यह इलाज श्री सांई संजीवनी अस्पताल द्वारा निःशुल्क किया जाएगा। इस प्रकोष्ठ को चिरायु छत्तीसगढ़ कहा जाएगा, जहां प्रदेश के बच्चों के हृदय रोग का इलाज किया जाएगा और इससे संबंधित चिकित्सकों को विशेष प्रशिक्षण भी दिया जाएगा। स्वास्थ्य विभाग द्वारा करीब आठ करोड़ रूपए की लागत से ऑपरेशन थियेटर और अन्य उपकरण स्थापित किए जाएंगे। मुख्यमंत्री ने स्वास्थ्य विभाग और श्री सत्य सांई संजीवनी अस्पताल के प्रबंधन को बधाई और शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा – यह अच्छी शुरूआत है। श्री सत्यसांई संजीवनी हॉस्पिटल सदैव समाज कल्याण के कार्यो में अग्रणी रहता है। अब इससे छत्तीसगढ़ के हृदय रोग से पीडि़त बच्चों का निःशुल्क और जल्द इलाज होगा और लम्बी प्रतीक्षा सूची का इंतजार नहीं करना पड़ेगा। इस अवसर पर स्वास्थ्य विभाग के प्रमुख सचिव श्री सुब्रत साहू, स्वास्थ्य विभाग की संचालक श्रीमती रानू साहू, श्री सत्य सांई संजीवनी अस्पताल के चेयरमेन श्री सी. श्रीनिवास सहित अन्य प्रतिनिधि उपस्थित थे।