रायपुर : वृद्धाश्रमों में बुजुर्गों को मिलेगी घर जैसी सुविधाएं : समाज कल्याण सचिव श्री बोरा ने माना स्थित नवीन वृद्धाश्रम का किया निरीक्षण

समाज कल्याण विभाग के सचिव श्री सोनमणि बोरा ने आज यहां माना स्थित नवीन वृद्धाश्रम भवन ’परमाश्रय’ का निरीक्षण किया। श्री बोरा ने इस आश्रम के निरीक्षण के दौरान यहां उपलब्ध सुविधाओं की समीक्षा करते हुए कहा कि बहुत जल्द ही इस आश्रम भवन का विस्तार किया जाएगा। समाज कल्याण विभाग द्वारा यहां बुजुर्गों को हर तरह की सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएंगी। वर्तमान में इस भवन में 96 बुजुर्गों के रहने की सुविधा है, जिसे 500 बुजुर्गों के रहने लायक बनाया जाएगा। साथ ही श्री बोरा ने इस भवन में बुजुर्गों के मनोरंजन के लिए एक्टीविटी सेंटर, उनके परिजनों के रूकने के लिए गेस्ट हाउस और दिन के समय में बुजुर्गों की देखभाल के लिए डे केयर सेंटर के निर्माण की बात भी कही। उन्होंने कहा कि समाज कल्याण विभाग द्वारा वृद्धाश्रमों में बुजुर्गों को घर जैसी सुविधा देने हेतु प्रयास किए जा रहे हैं। उन्होंने यह भी बताया कि माना क्षेत्र में समाज कल्याण विभाग की ओर से दिव्यांगों, निराश्रितों और बुजुर्गों के लिए बहुत सी संस्थाएं संचालित की जा रही है। राज्य सरकार की कार्ययोजना है कि इस क्षेत्र को इस प्रकार विकसित किया जाए कि इसे समाज कल्याण के क्षेत्र में राष्ट्रीय स्तर की पहचान मिले। उन्होंने बताया कि समाज कल्याण द्वारा दिव्यांगजनों के लिए यहां पर ’घरौंदा’ नामक आश्रय स्थल का निर्माण किया गया है, जिसे दो महीने के भीतर शुरू किया जाएगा। ’घरौंदा’ में 18 वर्ष से अधिक आयु के दिव्यांगजनों की सम्पूर्ण देखभाल जीवन पर्यन्त की जाएगी। समाज कल्याण विभाग द्वारा घरौंदा में दिव्यांगजनों की देखभाल, भरण पोषण, चिकित्सा की सम्पूर्ण व्यवस्था की जा रही है। उन्होंने कहा कि आने वाले भविष्य को देखते हुए समाज कल्याण विभाग द्वारा डे केयर सेंटर अर्थात बहुसेवा केन्द्रों की स्थापना पर विशेष रूचि ली जा रही है, ताकि बुजुर्गों को इसका लाभ मिल सके। आगामी कुछ वर्षों में बुजुर्गों की संख्या में बढ़ोत्तरी होगी, इस लिहाज से आने वाले समय में डे-केयर सेंटर की आवश्यकता पड़ेगी, जहां उनकी देखभाल की जा सकेगी। उल्लेखनीय है कि माना स्थित इस वृद्धाश्रम भवन का निर्माण एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया द्वारा किया गया है, जिसका संचालन समाज कल्याण विभाग द्वारा एक निजी समाज सेवी संस्था श्री मानव सेवा संस्थान के साथ मिलकर किया जाएगा।