रेलवे रिकॉर्ड में दृष्टिहीन, राज्यमंत्री का दर्जा पाने वाले नर्मदानंद बोले- नर्मदा परिक्रमा से रोशनी लौट आई

भोपाल/रतलाम. एक दिन पहले राज्यमंत्री के दर्जे से नवाजे गए बाबा नर्मदानंद रेलवे के रिकॉर्ड में दृष्टिहीन हैं। उनका 2009 में जिला अस्पताल के डॉक्टरों की मेडिकल रिपोर्ट के आधार पर दृष्टिहीन होने का प्रमाण-पत्र बन चुका है। उनका नाम राशन कार्ड की गरीबी रेखा की सूची में भी दर्ज है। भास्कर ने बुधवार को जब बाबा से पूछा कि आपको तो सब दिखता है? तो बाबा ने कहा-“मेरी आंखें 89 फीसदी खराब थीं। 2014 तक दृष्टिहीन होकर रियायती टिकट पर यात्रा करता था, लेकिन नंगे पांव नर्मदा परिक्रमा शुरू की तो आंखों की रोशनी लौट आई। अब सुविधा नहीं लेता हूं।” नर्मदानंद 150 गुरुभक्तों के साथ नर्मदा की 3300 किमी की परिक्रमा कर रहे हैं। यह परिक्रमा 26 मार्च को ओंकारेश्वर से शुरू हुई है और 11 अप्रैल को ओंकारेश्वर में ही खत्म होगी। वे फिलहाल नेमावर क्षेत्र में परिक्रमा पर हैं।

सरकार में जनता के चुने प्रतिनिधियों में से 32 मंत्री, इनसे तीन गुना ज्यादा 93 को कैबिनेट और राज्यमंत्री का दर्जा हासिल

मप्र सरकार मंत्री का दर्जा देने के मामले में काफी उदार है। सरकार में जनता द्वारा चुने गए प्रतिनिधियों में से मुख्यमंत्री समेत 32 मंत्री हंै, जबकि मंत्री का दर्जा हासिल करने वालों की संख्या इनसे तीन गुना ज्यादा 93 है। इनमें से 35 को कैबिनेट और 58 को राज्यमंत्री का दर्जा हासिल है। उल्लेखनीय है कि मंगलवार को मप्र सरकार ने नर्मदानंदजी, हरिहरानंदजी, कंप्यूटर बाबा, भय्यू महाराज और पं. योगेंद्र महंत को राज्यमंत्री का दर्जा दिया है।

मंत्री का दर्जा पाकर विवादों में: किसी पर यौन शोषण का आरोप तो किसी के यहां इनकम टैक्स के छापे पड़े

राजेंद्र नामदेव : सिलाई-कढ़ाई बोर्ड उपाध्यक्ष। राज्यमंत्री का दर्जा मिला था। पिछले महीने एक महिला ने उनके खिलाफ यौन शोषण की रिपोर्ट कराई थी। केस दर्ज होने के बाद राज्यमंत्री का दर्जा छीन लिया गया था। दो दिन पहले गिरफ्तारी हुई है।

अमरजीत सिंह भल्ला:राज्य अल्पसंख्यक आयोग के सदस्य हैं। आयकर विभाग के छापे पड़ने के 15 दिन बाद इन्हें राज्यमंत्री का दर्जा मिला। शराब कारोबारी पप्पू भाटिया से कथित संपर्कों के कारण चर्चा में रहे।

संतोष जोशी:मप्र गोपालन एवं पशुधन संवर्धन बोर्ड के उपाध्यक्ष (राज्यमंत्री दर्जा प्राप्त)। पत्नी भार्गवी ने संतान नहीं होने पर शारीरिक व मानसिक रूप से प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है। कोर्ट में दायर याचिका में बताया कि जोशी ने दूसरी शादी कर ली है। अब तलाक के लिए वे लगातार दबाव बना रहे हैं।

नर्मदा यात्रा : 312 लोगों को राज्य अतिथि का दर्जा

प्रदेश में 11 दिसंबर 2016 को नर्मदा सेवा यात्रा शुरू हुई थी। छह महीने चली यात्रा में 312 से ज्यादा साधु-संत, प्रमुख हस्तियां और फिल्मी कलाकार शामिल हुए थे। सभी को सरकार ने राजकीय अतिथि का दर्जा देकर सम्मान दिया था।

इंदौर हाईकोर्ट में याचिका

इंदौर के भय्यू महाराज, पायलट बाबा और योगेंद्र महंत को राज्यमंत्री का दर्जा दिए जाने के खिलाफ हाई कोर्ट की इंदौर खंडपीठ में याचिका दायर की गई है, जिसमें उल्लेख किया गया है कि संविधान में राज्यमंत्री का दर्जा दिए जाने का कोई प्रावधान नहीं है।

मंत्री की तरह कोई सुविधा नहीं लूंगा- भय्यू महाराज
वहीं भय्यू महाराज ने बयान दिया है कि अभी आधिकारिक रूप से कोई पत्र नहीं मिला है। किसी की भावनाओं और सम्मान को आहत नहीं करूंगा। मंत्री के रूप में किसी तरह की सुविधा नहीं लूंगा।