लंदन आतंकी हमले में 7 की मौत, अबतक 14 संदिग्ध गिरफ्तार

ब्रिटेन की राजधानी लंदन में शनिवार की रात दो अलग-अलग घटनाओं ने पूरी दुनिया को हिला कर रख दिया। लंदन ब्रिज पर एक बेकाबू वैन ने पैदल यात्रियों को टक्कर मारी। घटना में 7 लोगों के मारे जाने और करीब 48 लोगों के घायल होने की खबर है। इस मामले में पुलिस ने जवाबी कार्रवाई करते हुए न सिर्फ 3 संदिग्धों को मार गिराया, बल्कि 12 लोगों को गिरफ्तार भी किया है।
मौके पर मौजूद चश्मदीद ने बताया कि वैन की रफ्तार 50 मील से ज्यादा की थी। डेलीमेल की खबर के मुताबिक हमलावरों ने हमला करने से पहले ‘अल्लाह’ का नाम लिया था।  बता दें कि काफी संख्या में लोग इस मशहूर ब्रिज पर चहलकदमी कर रहे थे कि तभी एक अनियंत्रित वैन ने लोगों को टक्कर मारनी शुरू कर दी। जिसके बाद वहां अफरा-तफरी मच गई। वहीं हमले के बाद ब्रिज की ओर आने वाले सभी रास्तों और लंदन के अंडरग्राउंड ट्रेन स्टेशन को बंद करवा दिया गया है। इसके बाद भारी संख्या में पुलिस बल को तैनात कर दिया गया है। इस मामले में अबतक 12 लोग गिरफ्तार हुए हैं।
दूसरी घटना ब्रिज के ही पास एक रेस्तरां की है जहां एक शख्स ने वहां खाना खा रहे लोगों पर चाकू से वार किए। इस दौरान वह चाकू को लहरा रहा था जिससे वहां मौजूद लोगों के बीच भगदड़ मच गई। इस हमले में 2 लोग घायल बताए जा रहे हैं।
वहीं लंदन पुलिस ने दोनों घटनाओं के बाद पुष्टि की है कि यह आतंकी हमला है। पुलिस के अनुसार इस हमले में 7 लोगों की मौत हुई है। सूत्रों के अनुसार पुलिस ने तीन संदिग्धों को भी मार गिराया है।
राहगीरों का कहना है कि वैन में तीन लोग सवार थे। फिलहाल पुलिस इस घटना की जांच में जुट गई है। घायलों को अस्पताल में भर्ती करवा दिया गया है। लंदन एंबुलेंस सर्विस ने अपने बयान में कहा कि हमने लंदन के 5 अस्पतालों में 48 से ज्यादा घायलों को पहुंचाया है।
गौरतलब है कि इससे पहले 23 मई को ब्रिटेन के मैनचेस्टर अरीना में भी ऐसी ही घटना को अंजाम दिया गया था। मशहूर अमेरिकी गायिका अरियाना ग्रैंडे का पॉप कंसर्ट के खत्म होने के बाद ये धमाका हुआ था।  हमले में 22 लोगों की मौत हो गई थी और 50 लोग घायल हो गए थे।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस हमले की कड़ी निंदा की है। मोदी ने अपने ट्वीट में लिखा है कि लंदन में हुआ हमला काफी चौंकाने वाला और गंभीर है। हमारी संवेदनाएं मृतक और घायलों के परिवार वालों के साथ है।

Leave a Reply