लोक शिकायतों के ऑनलाइन निराकरण में ,छत्तीसगढ़ देश में प्रथम …

प्रदेश के लिए राहत की खबर आयी है बता दे की लोक शिकायतो के ऑनलाइन आवेदन सुलझाने के मामले में देश में प्रथम स्थान हासिल किया है |मतलब देखा जा सकता है की अब प्रदेश में जनता की समस्याओं का निपटारा अब फटाफट हो रहा है | साथ ही साथ अब समस्याए भी कम होने लगी है |सरकार की यह पहल सराहनीय है |केन्द्रीय लोक शिकायत एवं प्रशासनिक सुधार विभाग के वेबपोर्टल सीपीग्राम्स में आवेदन पत्रों के निराकरण में छत्तीसगढ़ को पूरे देश में प्रथम स्थान प्राप्त हुआ है। प्राप्त जानकारी के अनुसार  सेन्ट्रल पब्लिक ग्रिवेन्स रिड्रेस एंड मॉनिटरिंग सिस्टम (सीपीग्राम्स) वेबपोर्टल से छत्तीसगढ़ सरकार को 18 हजार 735 आवेदन प्राप्त हुए थे।इनमें से 81.66 प्रतिशत, 15 हजार 299 आवेदनों का निराकरण कर दिया गया। केन्द्रीय लोक शिकायत और प्रशासनिक सुधार विभाग द्वारा अक्टूबर 2017 की स्थिति में छत्तीसगढ़ को मामलों के निराकरण में देश के 29 राज्यों में पहले नम्बर पर पाया।

इस प्रणाली में प्रतिदिन आठ जिलों के आवेदकों को अपने जिला मुख्यालय से ही मंत्रालय (महानदी भवन) तक अपनी बात पहुंचाने का मौका मिल रहा है। आवेदक अपने जिले के कलेक्टर कार्यालय और मंत्रालय के अकिारियों की उपस्थिति में वीडियो वार्ता के जरिये अपनी समस्याओं की जानकारी देते हैं, जिन्हें मंत्रालय के अधिकारी रजिस्टर में नोट कर संबंधित विभागों को भिजवाते हैं। आवेदक निर्धारित दिवस पर कलेक्टर कार्यालय के वीडियो कॉन्फ्रेंसिग कक्ष में आकर निर्धारित में दोपहर एक बजे तक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए जनसुनवाई में अपनी बात रख सकते हैं।राज्य सरकार के जनशिकायत निवारण विभाग द्वारा भारत सरकार के वेबपोर्टल सीपीग्राम्स के जरिए ऑन लाइन मिलने वाले आवेदन पत्रों का निराकरण शासन स्तर पर किया जाता है