वरिष्ठ पत्रकार विनोद वर्मा के खिलाफ दो और धारा बढ़ीं, पुलिस स्टेशन के बाहर हुआ हमला

रायपुर। रविवार को सीडी कांड में आरोपी बनाए गए वरिष्ठ पत्रकार विनोद वर्मा को रायपुर में कोर्ट में पेश किया गया। जहां विनोद वर्मा के खिलाफ दो और धारा बढ़ा दी गई। इससे पहले माना थाना से जैसे ही पुलिस ने विनोद वर्मा को गाड़ी में बैठाया वैसे ही उनके ऊपर हमला कर दिया गया। हमलावरों ने पुलिस की गाड़ी को रोकने की भी कोशिश की। इस दौरान अश्लील गालियां भी दी गई।
– जिस दौरान विनोद वर्मा पर हमला हुआ उस दौरान उन्हें माना थाना से रायपुर कोर्ट में पेश के लिए लाया जाया जा रहा था।
– आपको बता दें कि कांग्रेस नेताओं ने भी विनोद वर्मा के ऊपर हमले की आशंका जताई थी और सरकार से उनकी पुख्ता सुरक्षा किए जाने की मांग की थी। लेकिन बावजूद इसके शासन प्रशासन ने इस पर ध्यान नहीं दिया।
– विनोद वर्मा के खिलाफ दो और धारा बढ़ी। रविवार को वर्मा पर 384, 506 के अलावा 507 और 120 बी के तहत के दर्ज किया गया है।
क्या है पूरा मामला
– मंत्री राजेश मूणत की कथित अश्लील सीडी को लेकर ब्लैकमेलिंग के आरोप में गाजियाबाद से गिरफ्तार किए गए विनोद वर्मा के पीछे क्राइम ब्रांच के अफसर पिछले10 दिनों से लगे हुए थे। उनके मोबाइल को सर्विलांस पर रखकर लगातार इनपुट जुटाया जा रहा था।
– विनोद के खिलाफ जैसे ही पुख्ता सबूत मिले और कॉल लोकेशन ट्रेसआउट हुआ, वैसे ही प्रकाश बजाज की लिखित शिकायत पर एफआईआर दर्ज की। इसके 6 घंटे के भीतर फ्लाइट से दिल्ली पहुंचे पुलिस अफसरों ने गाजियाबाद के इंदिरापुरम स्थित फ्लैट में शुक्रवार तड़के छापा मारकर विनोद वर्मा को गिरफ्तार कर लिया।
रिपोर्ट लिखाने वाला प्रकाश बजाज गायब्र
– विनोद वर्मा के खिलाफ पंडरी थाने में ब्लैकमेलिंग व धमकाने की लिखित शिकायत देने वाले वीआईपी स्टेट निवासी भाजपा के आईटी सेल के नेता प्रकाश बजाज गायब हैं।
क्राइम ब्रांच प्रभारी दिल्ली में डटे
क्राइम ब्रांच प्रभारी संजय सिंह समेत तीन अन्य सीडी कांड में तगड़ा साक्ष्य जुटाने दिल्ली में डटे हुए हैं।
कॉल डिटेल से खुला राज
– प्रकाश ने पंडरी थाने में दर्ज कराई शिकायत में यह बताया है कि घर के लैंड लाइन नंबर 07714089712 पर अज्ञात व्यक्ति ने यह कहकर धमकाया कि तुम्हारे आकाओं के अश्लील वीडियो सीडी बनवाकर बंटवा दूंगा। ऐसा न हो, इसलिए पैसे दे दो। अफसरों का कहना है कि कॉल डिटेल खंगालने पर विनोद वर्मा का नंबर ट्रेस आउट हुआ था, जो लगातार दिल्ली से कॉल करके सीडी न बंटवाने के एवज में पैसे की मांग कर रहे थे।