वसूली के विवाद में पुलिस को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा, लोग देखते रहे तमाशा

टेंपो में वसूली को लेकर दो पक्षों में हंगामा हुआ। पुलिस ने एक बार मामला सुलझा दिया। पर जब एक पक्ष वापस मारपीट की शिकायत करने थाने पहुंचा तो ग्वालियर थाना पुलिस ने पीड़ित व उसकी मां-बहन और पिता से मारपीट कर उन्हें खदेड़ दिया।

पुलिस के रवैये से आक्रोश भड़का और पीड़ित पक्ष ने लाठी डंडों से पुलिस कर्मियों पर हमला बोल दिया। सड़क पर दौड़ा-दौड़ा कर पुलिस को पीटा। इतना ही नहीं एक युवक ने टीआई के चेंबर में घुसकर गेट पर अपना सिर दे मारा। जिससे पूरा कांच फूट गया और युवक लहूलुहान हो गया। चेंबर में घुसकर पुलिसकर्मियों से मारपीट की भी खबर है। हंगामे के बाद पुलिस मौके पर पहुंची और स्थिति का संभाला।

उपनगर ग्वालियर के घासमंडी शीतला माता मंदिर निवासी दीपू सिंह सिकरवार किलागेट इलाके में टेंपो को क्रम से निकलवा रहा था। इसी समय वहां घासमंडी निवासी दीपू किरार, उसका भाई कालू व एक अन्य वहां पहुंचे। इन्होंने दीपू सिकरवार से मारपीट कर दी। हंगामा होने पर पुलिस मौके पर पहुंची। दोनों पक्षों को थाने ले आई।

यहां पुलिस का कहना है कि दोनों पक्षों ने राजीनामा लिखकर दिया और मामला सुलझ गया। जबकि दीपू सिकरवार का आरोप है कि उसके जाने के बाद पुलिस ने आरोपियों को बिना कार्रवाई के छोड़ दिया। थाने से छूटने के बाद दीपू किरार, कालू अपने साथियों के साथ सिकरवार के घर पहुंचे वहां उसके भाई कल्लू सिंह को पकड़कर उस पर हमला बोल दिया। मां और बहन बचाने आई तो उन्हें भी पीटा।

पुलिस ने उल्टा पीटा, थाने से खदेड़ा

दीपू सिंह, भाई कल्लू व घर की महिलाओं से मारपीट की शिकायत करने ग्वालियर थाने (किलागेट थाना) पहुंचे तो पुलिस ने यहां उनकी एक बात नहीं सुनी। थाने के पुलिस कर्मियों ने थाना परिसर में ही दीपू, उसके भाई व परिजन से मारपीट कर उन्हें थाने से बाहर खदेड़ना चाहा। यह सूचना मिलते ही इनके अन्य परिजन वहां पहुंच गए। मारपीट की शिकयत नहीं लिखने और उल्टा पीटने की खबर से दीपू, उसका भाई कल्लू आक्रोशित हो गए। उन्होंने थाने से ही डंडे उठाए और पुलिस पर टूट पड़े।

पब्लिक हंसती रही, पुलिस को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा

आक्रोशित परिजन डंडा लेकर पुलिस को सड़क पर दौड़ा-दौड़ा कर पीट रहे थे। सड़क पर खड़े लोग तमाशा देख रहे थे। इतना ही नहीं दीपू के भाई कल्लू सिकरवार दौड़ते हुए टीआई ग्वालियर मदन मोहन मालवीय के चेंबर में घुसा और अपना सिर कांच के गेट में दे मारा। जिससे कांच तो टूटा ही साथ ही कल्लू भी लहूलुहान हो गया। घटना के बाद पुलिस कर्मियों ने भागकर जान बचाई। हंगामे की सूचना पर आसपास से फोर्स बुलाया गया। जिसके बाद स्थिति को संभाला।

हंगामे के बाद की कार्रवाई

हंगामा बढ़ने पर वरिष्ठ अधिकारी मौके पर पहुंचे। पुलिस तब जाकर स्थिति संभली। पुलिस अधिकारियों ने कल्लू का मेडिकल कराया और तत्काल आरोपी दीपू किरार व उसके भाईयों को पकड़कर हवालात में डाला। इसके बाद पुलिस ने दीपू सिकरवार की शिकायत पर आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया।

पुलिस पर भी हमला किया, सीएसपी बोले जांच का विषय

जब इस संबंध में सीएसपी ग्वालियर शैलेन्द्र सिंह से पूछा गया कि पुलिस पर मारपीट का आरोप है तो उन्होंने बोला परिजन ने ऐसा आरोप लगया है। जांच की जा रही है। पुलिस को भी पीटा गया यह बात पूछने वह बोले यह जांच का विषय है। जांच के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

सीएसपी करेंगे मामले की जांच

घटना में पुलिसकर्मी अमृत सिंह भी घायल हुआ है। मारपीट करने वालों पर शासकीय कार्य में बाधा डालने का मामला दर्ज किया जाएगा। साथ ही स्थिति क्यों बिगड़ी और कैसे बिगड़ी इसकी जांच सीएसपी ग्वालियर करेंगे।दिनेश कौशल, एएसपी शहर