वास्तु शास्त्र के अनुसार ऐसा करने से भी बिगड़ती और बनती है आपकी किस्मत ..

वास्तु शास्त्र  में हर चीज का एक तरीका बताया गया है |अक्सर देखा गया है की हम अपनी दौड़भाग भरी जिंदगी में नियमो का ध्यान नहीं रख पाते परिणामस्वरूप हमें परेशानी उठानी पड़ती है |तो चलिए बताते है आपको आज क्या क्या करने से आप अपने भाग्य को बनाते और बिगाड़ते भी है भारतीय संस्कृति पर पाश्चात्य संस्कृति का प्रभाव आने से आजकल फटे कपड़े जैसे जींस, टॉप आदि पहनना युवाओं के बीच खासा लोकप्रिय है, लेकिन ऐसे कपड़े पहनना हमारी संस्कृति में शुभ नहीं माने जाते, क्योंकि ऐसे कपड़े पहनने से शुक्र ग्रह प्रभावित होता है।

जीवन में हर रंग का अपना एक स्थान होता है आप क्या पहनते है उसका सीधा सम्बन्ध आपके ग्रहो से भी होता है और फिर उसी के अनुसार हमें परिणाम भी मिलते है व्यक्ति की पहचान उसके कपड़ों से होती है। कपड़े हमारे शरीर को ढकने का काम तो करते ही हैं, ये हमारे व्यक्तित्व, व्यवसाय, चरित्र, व्यवहार, आत्मविश्वास को भी दर्शाते हैं।फटे कपड़े पहनने से शारीरिक क्षमता एवं ऊर्जा नष्ट होती है। ये हमारे तन-मन को शिथिल बनाकर कई प्रकार की बीमारियों को जन्म देते हैं। ज्योतिष शास्त्र में शुक्र को प्रेम, रोमांस और दांपत्य जीवन की मधुरता के लिए उत्तरदायी ग्रह माना गया है।

इसके अलावा भोग-विलास और जीवन की गुणवत्ता का कार्य भी शुक्र के ही हाथों में होता है। फटे-पुराने कपड़े हमारे लिए बुरा संयोग लेकर आते हैं। कटे-फटे जींस और शर्ट पहनना दरिद्रता को बुलाना है, इसलिए कभी भी हमें फटे कपड़े नहीं पहनना चाहिए और न ही खरीदना चाहिए। फिर चाहे वे कितने ही आकर्षक क्यों न हो| इस प्रकार के कपड़े न सिर्फ कहीं बाहर जाने के लिए खराब माने जाते हैं, दिन के हिसाब से अलग-अलग रंग के कपड़े पहनें। आपके व्यक्तित्व पर इसका सकारात्मक प्रभाव पड़ता है। तो हमें इस तरह से कटे फटे कपडे नहीं पहनना चाहिए जिससे कोई परेशानी हो |