वीवीआईपी के लिए हरे भरे वृक्षों की चढ़ा दी बलि

गुरु घासीदास केंद्रीय विश्वविद्यालय प्रशासन दीक्षांत समारोह में वीवीआईपी को खुश करने के लिए हरे भरे वृक्षों की बलि चढ़ा रहा है। जिससे कैंपस की हरियाली नष्ट हो रही है। इसे लेकर छात्र -छात्राओं और शिक्षकों में आक्रोश है।

गुरु घासीदास केंद्रीय विश्वविद्यालय प्रशासन 15 अक्टूबर को छठवें दीक्षांत समारोह को ऐतिहासिक बनाने के लिए जुटा हुआ है। इसी कड़ी में 750 एकड़ में फैले कैंपस में पेड़ों की कटाई भी की जा रही है। पिछले कुछ दिनों से कर्मचारी रोजना पेड़ों को काट रहे हैं। मुख्य द्वार से सभास्थल तक सड़क के दोनों ओर पेड़ों को काटा जा रहा है। जिम्मेदार अधिकारियों का कहना है कि दीक्षांत समारोह में देशभर से वीवीआईपी पहुंच रहे हैं उन्हें किसी तरह की दिक्कत न हो इसलिए पेड़ों की छंटाई की जा रही है। जबकि पेड़ों की कटाई की जा रही है। नाम नहीं छापने की शर्त पर एक कर्मचारी ने बताया कि एक दिन पहले रात में भी पेड़ों को काटा गया है। गुरु घासीदास बाबा की प्रतिमा के सामने, प्रशासनिक भवन, हॉस्पिटल से लेकर सभास्थल तक 20 से अधिक पेड़ काटे चुके हैं। जबकि 60 से अधिक को छंटाई के नाम पर आधा काट दिया गया है। छात्रों और शिक्षकों में भी इसे लेकर जबरदस्त आक्रोश है।