व्यापमं परीक्षाओं में मध्यस्थ दिलीप गुप्ता ने किया सरेंडर

व्यापमं (अब पीईबी) की पीएमटी और भर्ती की छह परीक्षाओं में दो दर्जन से ज्यादा लोगों को फायदा पहुंचाने वाले अनूपपुर के एक आरोपी दिलीप गुप्ता ने सरेंडर किया, जिसे केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने गिरफ्तार कर लिया है। अब उसे पांच दिन के पुलिस रिमांड पर लेकर पूछताछ शुरू कर दी गई है।

जानकारी के मुताबिक अनूपपुर के दिलीप गुप्ता को सीबीआई ने हाल ही में गिरफ्तार किया है। उसकी काफी समय से तलाश थी। उसने छह परीक्षाओं वनरक्षक भर्ती परीक्षा 2013, खाद्य और नापतौल भर्ती परीक्षा 2012, पीएमटी 2012 व पीएमटी 2013, पुलिस आरक्षक भर्ती परीक्षा 2012 और एमपी डेयरी फेडरेशन को-ऑपरेटिव लिमिटेड भर्ती परीक्षा 2013 में करीब दो दर्जन से ज्यादा परीक्षार्थियों को फायदा पहुंचाने में मध्यस्थ की भूमिका निभाई थी।

दिलीप के खिलाफ काफी समय पहले एसटीएफ ने प्रकरण दर्ज किया था, लेकिन वह फरार चल रहा था।

एसटीएफ द्वारा दर्ज किए गए प्रकरण में आरोप है कि दिलीप गुप्ता ने मूल परीक्षार्थियों, व्यापमं के अधिकारियों व अन्य लोगों के साथ मिलकर ओएमआर शीटों में गड़बड़ी कर परीक्षार्थियों को फायदा पहुंचाया। दिलीप ने परीक्षार्थियों, व्यापमं के अधिकारियों व स्कोरर के बीच मध्यस्थ की भूमिका निभाई थी।