शरद पूर्णिमा पर काव्य गोष्ठी

बरसाना एंक्लेव के मनोरंजन हॉल में हिंदी साहित्य के तत्वावधान में काव्य गोष्ठी का आयोजन किया गया। इस अवसर पर संजीव ठाकुर ने गजलें सुनाईं। इसके अलावा अन्य कवियों ने भी काव्य पाठ कर समां बांध दिया। संजीव ने अपनी हास्य गजलें यानी हजल भी पेश कीं। हजल सुनकर श्रोता जमकर हंसे। इस बीच शोभा शर्मा ने चल नदिया तू समंदर से मिल जा, बादल तू भी झूम के बरस जा। जेके डागर ने दोहे और चौपाइयां सुनाईं। गौहर जमाली ने शेरों से समां बांधा। कार्यक्रम में संस्था के अध्यक्ष अमरनाथ त्यागी खास तौर पर मौजूद थे।

सौरभ 06 समय 11ः11

सं. आरकेडडी