शराब बंदी राष्ट्रपिता को समर्पित

दरभंगा : बिहार राज्य में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने समूचे राज्य में शराबबंदी पर प्रतिबंध लगा दिया है। अब इस मामले में ये प्रयास किए जा रहे हैं कि शराब बंदी के निर्णय को कड़ाई से लागू किया जाए। सीएम नीतीश ने इस मामले में कहा कि जब चंपारण सत्याग्रह का शताब्दी वर्ष मनाया जा रहा है तो ऐसे में शराबबंदी का कार्यक्रम राष्ट्रपति महात्मा गांधी को समर्पित कर दिया जाता है। शराब विक्रय पर जो प्रतिबंध है वह जारी रहेगा।

उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति महात्मा गांधी ने नील की खेती करने वाले अंग्रेजी नियम का विरोध किया था। महात्मागांधी के इस अभियान की स्मृति में शताब्दी वर्ष मनाया जा रहा है। दरअसल यह अभियान 1917 में चलाया गया था। यहां पर लागू की गई पूर्ण शराबबंदी को उन्होंने सही बताया। दरअसल वे समाजशास्त्रियों के एक राष्ट्रीय सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे।

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शराबबंदी के निर्णय को राष्ट्रपिता को समर्पित करते हुए उसका विरोध करने वालों पर हमला किया। अंग्रेजी बोलने वालों को वे साफतौर पर यह बताना चाहते हैं कि शराब व्यक्ति के मूल अधिकार का भाग नहीं है। सीएम नीतीश ने कहा कि वे समाज की एक तरह से सेवा करने का प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि शराबबंदी का समाज पर सकारात्मक प्रभाव होता है।

Leave a Reply