शिक्षक दिवस 2018: राष्ट्रपति-उपराष्ट्रपति ने दी बधाई, कहा- शिक्षक देश की रीढ़

नई दिल्ली : शिक्षक दिवस (Teachers’ Day) के अवसर पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने देश भर के शिक्षकों को बधाई दी है. उन्होंने कहा,  ‘शिक्षक दिवस पर मैं डॉ. एस. राधाकृष्णन को श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं और देश के सभी शिक्षकों को हार्दिक बधाई देता हूं. राष्ट्र-निर्माण में और ज्ञान, शान्ति एवं सौहार्द से पूर्ण दुनिया के निर्माण में हमारे महान गुरु हमारी सहायता और मार्गदर्शन करें’. वहीं उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने भी शिक्षक दिवस पर बधाई दी है.

उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने कहा, ‘सच्चा शिक्षक वो है जो हमें आत्म चिंतन के लिए प्रेरित करे’. ‘गु’ अर्थात अन्धकार और ‘रू’ अर्थात तेज. जो ज्ञान के तेज से अन्धकार को हटाता है वही गुरु है. साथ ही ‘सच्चा शिक्षक वो है जो हमें आत्म चिंतन के लिए प्रेरित करे’. उन्होंने कहा, डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन ने कहा था ‘मेरा जन्मदिन मनाने के बजाय मेरा सौभाग्य होगा कि 5 सितम्बर को शिक्षक दिवस के रूप में मनाया जाय’. आजन्म शिक्षक, प्रखर विद्वान पूर्व राष्ट्रपति और राज्य सभा के प्रथम सभापति डॉ सर्वेपल्ली राधाकृष्णन की जन्मजयंती पर मैं गुरु वृंद और शिक्षकों को सादर प्रणाम और शुभकामनाएं देता हूं.

इसी तरह छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह ने भी शिक्षक दिवस (Teachers’ Day) पर बधाई दी है. उन्होंने कहा दर्शनशास्त्र के ज्ञाता, भारतीय संस्कृति के संवाहक स्व. डॉ राधाकृष्णन ने अपनी विद्वत्ता व शिक्षण से राष्ट्र निर्माण की प्रेरणा दी है. वहीं उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी बधाई दी. उन्होंने कहा कि ‘भारत रत्न’ डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन भारतीय संस्कृति के संवाहक थे.

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन को नमन करते हुए उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की तथा कहा कि समाज एवं राष्ट्र निर्माण में शिक्षकों के योगदान की अनदेखी नहीं की जा सकती. मुख्यमंत्री ने अपने संदेश में कहा कि शिक्षक समाज के मेरुदंड हैं. इनको हर स्तर पर आदर एवं सम्मान मिलना चाहिए. मुख्यमंत्री ने राज्य के शिक्षकों से उम्मीद जताते हुए कहा कि वे राष्ट्र निर्माण में अपनी भागीदारी को बढ़ाएं तथा देश की भावी पीढ़ी को इस तरह तैयार करें कि उनके मन में देशप्रेम, भाईचारा, सद्भाव की भावना जगे