शिर्डी में सांई बाबा दिखने की फैली खबर, जानें क्या है सच्चाई

शिर्डी। महाराष्ट्र के शिर्डी में सांई बाबा के दर्शनों को लाखों लोग आते हैं। लेकिन बुधवार देर रात यहां सांई बाबा का चेहरा दिखने की खबर फैलने के बाद भक्तों की भीड़ बढ़ गई है। आलम यह है कि बुधवार रात के बाद से ही मंदिर के कपाट बंद नहीं हुए हैं। खबरों के अनुसार शिर्डी में अचानक यह अफवाह फैलने लगी कि मंदिर की दीवार पर सांई बाबा का चेहरा उभर आया है। इसके बाद तो जैसे मंदिर में भक्तों की भीड़ उमड़ पड़ी।

बुधवार रात से ही मंदिर में भारी संख्या में भक्त जमा हैं और दर्शन कर रहे हैं। वहीं आसपास के इलाकों में भी जब यह अफवाह पहुंची तो लोग सांई बाबा के दर्शनों को पहुंचने लगे। सांई बाबा की यह तस्वीर मंदिर परिसर में बने द्वारिका माई की दीवार पर देखे जाने का दावा किया गया है। इसके बाद इस दीवार को चमत्कार की दीवार भी कहा जा रहा है।

इस दीवार की तस्वीर सोशल मीडिया में तेजी से वायरल हो रही है। लोगों की उमड़ती भीड़ देखकर मंदिर परिसर में सुरक्षा बढ़ा दी गई है। हालांकि, कुछ लोग इसे कोरी अफवाह बता रहे हैं। 2012 में भी इसी तरह की एक अफवाह फैली थी जिसमें बाबा की प्रतिमा दिखाई देने का दावा किया गया था।

उपलब्ध जानकारी के अनुसार सांई बाबा का जन्म 1838 में महाराष्ट्र के पाथरी में हुआ था। लोग उन्हें भगवान का अवतार मानते थे। प्रचलित कहानियों के अनुसार 16 साल की उम्र में बाबा शिर्डी पहुंचे और यहीं बस गए।